विदेश दौरे पर हो रही आलोचना को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने बनाया मोदी के लिए हथियार

नई दिल्ली : संभवतः भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही देश में एकमात्र ऐसी शख्सियत हैं जो प्रधानमंत्री के तौर पर विदेश यात्राओं को लेकर चर्चित रहे। जी हां, मोदी विदेश यात्रा में किसी से पीछे नहीं लेकिन इनकी विदेश यात्रा को खर्चीलेपन से जोड़कर नहीं देखा जा रहा। इनकी विदेश यात्रा देश के महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट को बल देने को लेकर जानी गई है। इस बारे में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इन विदेशी दौरों को मीडिया कवरेज भी अच्छा दिया गया। अब यह बात सामने आई है कि आगामी समय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका की यात्रा पर जाने वाले हैं ऐसे में वहां के एक शहर में अभी से प्रधानमंत्री श्री मोदी के उद्बोधन को लेकर करीब 45000 हजार लोगों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है।

मोदी के भाषण को हर कोई सुनना चाहता है। मोदी की आहट सुनकर ही हर कोई मोदी-मोदी के जयकारे लगाने लगाता है। ऐसे भारत के बाहर भी हो रहा है। उन्होंने विदेशी मीडिया में अपने कवरेज की गतिविधियों को पूर्ववर्ती प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह से भी पीछे छोड़ दिया है। कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अमेरिका दौरे पर करीब 7596 शब्द विभिन्न पत्र - पत्रिकाओं में छपे थे मगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दोरे पर महज 31 लेखों में ही 27639 शब्द प्रकाशित हुए। मोदी का दौरा बेहद प्रभावी रहा है। अपने हर दौरे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेशियों के दिल को छू लेते हैं। हालांकि इस मामले में यह भी कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोकप्रिय बनाने के लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय इस तरह के आंकड़े जारी कर रहा है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -