4237 शहरों को पछाड़कर इंदौर ने लगाई स्वच्छता में हैट्रिक

स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के परिणामों का ऐलान हो गया है और इस बार फिर से इंदौर ने नम्बर एक स्थान हासिल किया है. बता दें, इस सर्वे में इंदौर लगातार तीसरी बार अव्वल रहा है. साथ ही सबसे स्वच्छ राजधानियों में मध्य प्रदेश का भोपाल पहले स्थान पर है. इस बार 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में अहमदाबाद और 5 लाख से कम आबादी वाले शहरों में उज्जैन ने बाजी मारी है. साथ ही बेस्ट परफॉर्मिंग प्रदेश के लिए छत्तीसगढ़ को चुना गया है.

बता दें दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इसकी घोषणा की है. उन्होंने इंदौर की महापौर मालिनी गौड, नेता प्रतिपक्ष फौजिया अलीम और नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह को यह पुरस्कार सौपा हैं. जानकारी के लिए बता दें देश के  में हुआ सर्वे हुआ था. इन सभी शहरों में से टॉप-10 शहर का चयन मंत्रालय के लिए भी बड़ी चुनौती रही है. सर्वे 5000 अंकों का होता है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक इंदौर शहर को समारोह में तीन अवार्ड मिलना तय माना गया था जिनमे से एक अवार्ड रैंकिंग, दूसरा फाइव स्टार रेटिंग और तीसरा अवार्ड इनोवेटिव श्रेणी के आयोजन के लिए दिया गया. इंदौर को लगातार तीसरी बार नम्बर वन आने पर राष्ट्रपति ने बधाई देते हुए कहा कि, 'इंदौर ने स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार तीन बार बाजी है. ये देश के लिए एक मिसाल है. स्वच्छता के काम को जमीन पर अंजाम देने वाले सभी स्वच्छताकर्मियों और स्वच्छाग्राहियों के योगदान के लिए, मैं उन सबको, पूरे राष्ट्र की तरफ से धन्यवाद देता हूं.'

राजस्थान के पाली में भीषण सड़क हादसा, 5 की मौत कई गंभीर घायल

कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया को ऐसे लोगों से लगता है डर

कुछ ही देर में तेलंगाना पहुंचकर शक्ति केंद्र प्रभारियों को सम्बोधित करेंगे अमित शाह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -