इंदौर में बढ़ा कोरोना का आतंक, मरीजों की संख्या 1207 तक पहुंची

मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है. दिन पर दिन नए मामले सामने आ रहे है. शहर में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 1207 पहुंच चुकी है, रविवार को यहां 31 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं. वहीं 3 मौतों की जानकारी सामने आई है जिससे मरने वालों की संख्या 60 हो गई है. रविवार को 16 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया और इन्हें मिलाकर अब तक कुल 123 मरीज घर लौट चुके हैं. लगातर तीन दिन तक बड़ी संख्या में संक्रमित मरीज मिलने के बाद चौथे दिन संख्या घट गई. रविवार को 31 नए संक्रमित मिले, चिंता की बात यह है कि रविवार को एक ऐसा पॉजिटिव मरीज मिला है, जो रेसीडेंसी एरिया में कई लोगों के यहां काम करता था. कर्मचारी के स्वजन को क्वारंटाइन किया जा रहा है. एमवाय के दो नर्स भी पॉजिटिव आए हैं.

बता दें की स्वास्थ्य विभाग ने तीन पॉजिटिव मरीजों की मौत की पुष्टि की है. इनमें नीलकंठ कॉलोनी, बापू नगर और महू का एक मरीज शामिल है. शहर में कोरोना से मौत की संख्या 60 हो चुकी है. रविवार को एमवाय अस्पताल के 2 नर्स फिर पॉजिटिव आए हैं. इन दोनों को 11 अप्रैल से ही क्वारंटाइन कर दिया गया था. एमवाय अस्पताल से अब तक 9 नर्स और 1 डॉक्टर पॉजिटिव आ चुके हैं.

दूसरी तरफ, ईएसआइसी के अस्पताल में ड्यूटी कर रहे कुछ कर्मचारी गेस्ट हाउस में रुके हुए हैं. कर्मचारियों के मुताबिक उनकी ड्यूटी कोरोना संक्रमित मरीजों के वार्ड में लगी है. वे लोग घर नहीं जा सकते इसलिए गेस्ट हाउस में ही रुके हुए हैं. गेस्ट हाउस के पास रहने वाले ईएसआइसी के एक बड़े अधिकारी ने गेस्ट हाउस खाली करवाने के लिए दबाव बनाया है. कर्मचारियों का आरोप ये है कि शनिवार रात को अधिकारी ने गेस्ट हाउस की बिजली भी बंद करवा दी. इसके बाद रविवार को नाराज कर्मचारी धरने पर बैठ गए और शिकायत भी की है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया पर विवादित पोस्ट करना पटवारी को पड़ा महंगा, हुए निलंबित

कोरोना वारियर्स के स्वास्थ्य को लेकर योगी सरकार अलर्ट, अधिकारियों को दिए ख़ास निर्देश

कोरोना मरीजों के लिए शिवराज सरकार का हैप्पीनेस फार्मूला, जानिए पूरा प्लान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -