घरेलु एयरलाइन्स को सरकार ने दी राहत, मिली 60% फ्लाइट्स संचालित करने की इजाजत

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के संकटकाल में विमान यात्राओं पर लागू रोक के बीच सरकार ने घरेलू एयरलाइंस के लिए राहत भरा ऐलान किया है. अब घरेलू एयरलाइंस कंपनियों को 60 फीसदी तक घरेलू रूट्स पर फ्लाइट्स आरंभ करने की अनुमति दे दी गई है. दरअसल इससे एयरलाइंस कंपनियों की लगातार बिगड़ रही आर्थिक स्थिति के संभालने में सहायता मिलेगी. 

कोरोना महामारी के कारण यात्राओं पर लगाई गई रोक का इन कंपनियों पर बेहद बुरा असर पड़ा है. सभी एयरलाइंस कंपनियां भारी नुकसान में चल रही हैं. इसके पहले 26 जून को सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने 45 फीसदी उड़ान आरंभ की करने की इजाजत दी थी. 25 मार्च को लॉकडाउन के बाद तक़रीबन दो महीनों तक घरेलू उड़ानों पर पाबंदी थी. सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने 25 मई से घरेलू उड़ानें आरंभ करने की इजाजत दी थी. हालांकि उस दौरा महज 33 फीसदी घरेलू उड़ानों को ही ऑपरेट करने की अनुमति दी गई थी.

बहरहाल, बुधवार को मंत्रालय ने 26 जून के अपने पिछले आदेश में बदलाव करते हुए कहा कि 45 फीसदी की बजाए 60 फीसदी फ्लाइट्स आरंभ करने की इजाजत दे दी गई है. 25 मई से देश में घरेलू उड़ानें फिर से आरंभ होने के बाद औसत ऑक्यूपेंसी रेट केवल 50-60 फीसदी है. कोरोना के कारण 23 मार्च से ही अंतरराष्ट्रीय हालांकि वंदे भारत मिशन के तहत मई से स्पेशल इंटरनेशनल फ्लाइट चालु हैं. इसके साथ द्विपक्षीय एयर बबल के तहत भी फ्लाइट्स संचालित की जा रही है.

क्या होगा 'आत्मनिर्भर भारत' का अगला कदम ? बैंक प्रमुखों के साथ वित्त मंत्री की बैठक आज

सोने-चांदी की वायदा कीमत में हुई बढ़ोतरी, जानिए क्या हैं नया रेट

डीजल की कीमत में आई कमी, जानें पेट्रोल का दाम

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -