देश की इकॉनमी ने पकड़ी रफ़्तार, तीसरी तिमाही में GDP में हुआ सुधार

नई दिल्ली: भारत सरकार के लिए राहत भरी खबर सामने आ रही है. भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) विकास दर के आंकड़ों में सुधार हुआ है. देश की आर्थिक विकास दर चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में बढ़कर 4.7 फीसद हो गई है. इससे पहले दूसरी तिमाही में देश की आर्थिक विकास दर 4.5 फीसद रही थी. सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय की तरफ से शुक्रवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर पिछली तिमाही से बढ़कर 4.7 फीसदी हो गई है.

दरअसल, देश की सुस्‍त पड़ी इकॉनमी को गति देने के लिए मोदी सरकार ने पिछले कुछ महीने से कई अहम् फैसले लिए थे. इसमें निवेश को बढ़ावा देने और कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती जैसे बड़े फैसले शामिल थे. इतना ही नहीं, केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने भी दावा किया था कि इन फैसलों को प्रभाव धीरे-धीरे देखने को मिलेगा. वित्त वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही में GDP विकास दर 5.6 फीसद रही थी. कई वित्तीय एजेंसियों ने तीसरी तिमाही में विकास दर घटकर 4 फीसद हो जाने का अनुमान जाहिर किया था.

वर्तमान वित्त वर्ष की अप्रैल-दिसंबर अवधि में भारतीय इकॉनमी 5.1 फीसद की रफ्तार से आगे बढ़ी है, जबकि इसके पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के लिए यह आंकड़ा 6.3 फीसद दर्ज किया गया था. ताजा रिपोर्ट के अनुसार, कृषि विकास दर 2 फीसदी से बढ़कर 3.5 फीसद पर, माइनिंग सेक्टर में ग्रोथ रेट -4.4 फीसद से बढ़कर 3.2 फीसद, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर ग्रोथ 5.2 फीसद से घटकर 0.2 फीसद, और कंस्ट्रक्शन सेक्टर ग्रोथ 6.6 फीसद से घटकर 0.3.7 फीसद पर पहुंच गई है.

धड़ाम से गिरा शेयर बाजार, 2008 के बाद सेंसेक्स में सबसे बड़ी गिरावट

सरकार दे रही शराब दूकान खोलने का मौका, इस तिथि तक कर सकते हैं आवेदन

Voda-Idea के लिए सरकार की मदद के बिना मुश्किल है बकाया चुकाना

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -