इमरान खान को भारत के विदेश मंत्रालय का करारा जवाब, कहा अपने गिरेबान में झांको

इमरान खान को भारत के विदेश मंत्रालय का करारा जवाब, कहा अपने गिरेबान में झांको

नई दिल्ली: देश में अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे व्यवहार पर पाक पीएम इमरान खान की हालिया टिप्पणी को भारत ने शनिवार को पूरे देशवासियों को लिए अपमानजनक करार दिया है और पड़ोसी मुल्क को इधर-उधर ध्यान भटकाने की बजाए अपनी घरेलु चुनौतियों पर फोकस करना चाहिए। दरअसल, पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, खान ने पंजाब प्रांत के एक कार्यक्रम में कहा था कि, उनकी सरकार अल्पसंख्यकों के साथ 'द्वितीय श्रेणी के नागरिकों' की तरह व्यवहार नहीं करगी जैसा कि भारत में अल्पसंखयकों के साथ किया जाता है।

पूर्वोत्तर से एक सहयोगी ने दी एनडीए छोड़ने की धमकी, हाथ से फिसल सकते हैं ये राज्य

इमरान खान की इस कथित टिप्पणी के बारे में सवाल किए जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने जवाब देते हुए कहा है कि उनकी टिप्पणी 'भारत के सभी नागरिकों के लिए अपमानजनक' है। उन्होंने कहा है कि, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने फिर से भारत की धर्मनिरपेक्षता और लोकाचार के बारे में अपनी समझ की कमी प्रदिर्शित की है। 

दिल्ली में सभा के बाद जिग्नेश मेवाणी का घेराव कर युवाओं ने की नारेबाजी

रविश कुमार ने कहा है कि, 'पाकिस्तान इधर उधर ध्यान भटकाने की बजाए अपनी घरेलू चुनौतियों पर अपना फोकस रखे और पाकिस्तान के  नागरिकों की स्थितियों में सुधार लाने का प्रयास करे। आपको बता दें कि इससे पहले नसीरुद्दीन शाह द्वारा भारत में रहने से डर लगने वाले बयान पर भी पाकिस्तानी पीएम ने कहा था कि वे पीएम मोदी को सिखाएंगे की अल्पसंख्यकों के साथ कैसा व्यव्हार किया जाता है।

खबरें और भी:-

भारी विरोध प्रदर्शन के बीच आज आंध्रा जाएंगे पीएम मोदी, 6,825 करोड़ की परियोजना का करेंगे लोकार्पण

राजस्थान में उग्र हुआ गुर्जर आंदोलन, गहलोत ने केंद्र के कंधे पर रखी बन्दूक

आखिर क्यों शरद पवार ने जताई केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी के लिए चिंता ?