भारत स्पेस स्टेशन बनाने की कर रहा तैयारी, जानिए क्या होगा फायदा

भारत स्पेस स्टेशन बनाने की कर रहा तैयारी, जानिए क्या होगा फायदा

इस समय भारत लगातार विकास कर रहा है. इस कड़ी मे ISRO चीफ K Sivan ने बताया है की भारत अपना स्पेस स्टेशन लॉन्च करने की योजना बना रहा है. यह महत्वकांशी प्रोजेक्ट गगनयान मिशन का एक्सटेंशन होगा. Sivan ने बताया- ह्यूमन स्पेस मिशन के लॉन्च के बाद हमें गगनयान प्रोग्राम को बनाए रखना है. इस परिप्रेक्ष्य में, स्पेस स्टेशन की प्लानिंग भारत अपने बल पर कर रहा है.

इस तरह प्री-इंस्टॉल्ड ऐप्स करें रीमूव, नहीं होगा स्मार्टफोन Slow

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस हफ्ते की शुरुआत में, Sivan ने भारत का चांद पर दूसरा मिशन, चंद्रयान 2, के बारे में बताया था. चंद्रयान 2 जुलाई 15 को लॉन्च किया जा सकता है. क्योंकि भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी अपने सबसे जटिल मिशन के लिए तैयार है, साउथ पोल के पास चांद पर लैंडिंग (जो अब तक अज्ञात क्षेत्र है) 6 या 7 सितम्बर को हो सकती है.

PUBG मोबाइल को 40 करोड़ से अधिक मिले डाउनलोड, कमाई का तोड़ा रिकॉर्ड

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्श्रीहरिकोटा के स्पेसपोर्ट से GSLV MK-III व्हीकल से 2:51am IST को लॉन्च किया जाएगा. इससे पहले ISRO ने लॉन्च विंडो को 9 जुलाई से 16 जुलाई के बीच रखा था. 3.8 टन के स्पेसक्राफ्ट में तीन मॉड्यूल्स- ऑर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान) हैं. ऑर्बिटर में 8 पेलोड, 3 लैंडर और 2 रोवर होंगे. सैटेलाइट के मामले में, चंद्रयान 2 मिशन की लागत Rs 603 करोड़ है. GSLV MK III की कीमत Rs 375 करोड़ है. ISRO के अनुसार, वैज्ञानिक पेलोड्स के साथऑर्बिटर चांद के आस-पास चक्कर लगाएगा. लैंडर पहले से निर्धारित साईट पर लैंड करेगा और रोवर को डेप्लॉय करेगा. ये चन्द्रमा की सतह का अध्ययन करेंगे.

सोनी ने वाटरप्रूफ ब्लूटूथ स्पीकर किया लॉन्च, ये होगी खासियत

भारत में एजुकेशन चैनल हुआ लॉन्च, फ्री में करें पढ़ाई

BSNL का ये सस्ता प्लान देगा रोज 1जीबी डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग