अंतरराष्ट्रीय कबड्डी टूर्नामेंट: कनाडा को 65-19 के अंतर से हराकर भारत बना चैंपियन

Dec 11 2019 12:12 PM
अंतरराष्ट्रीय कबड्डी टूर्नामेंट: कनाडा को 65-19 के अंतर से हराकर भारत बना चैंपियन

श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित पंजाब सरकार की ओर से करवाए जा रहे अंतरराष्ट्रीय कबड्डी टूर्नामेंट में कनाडा को हराकर भारत चैंपियन बन गया है| डेरा बाबा नानक के शहीद भगत सिंह स्टेडियम में मंगलवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में भारत ने कनाडा को 65-19 के अंतर से मात दी। मैच की शुरुआत से ही भारत ने मैच पर अपनी पकड़ बनाना शुरू की कर दी थी। भारत ने पहले हाफ में  21 अंक प्राप्त किए जबकि कनाडा की टीम चार अंक ही हासिल कर पाई थी।

फाइनल में भारतीय टीम के रेडर कमल नवां पिंड को बेस्ट रेडर चुना गया। कमल ने कनाडा की टीम के 11 खिलाडि़यों को आउट किया।उनका प्रदर्शन देखने लायक था| भारतीय टीम के कैचर रणजोध जोधा को बेस्ट कैचर चुना गया। रणजोध ने विरोधी टीम के आठ खिलाडि़यों को पकड़ा। इससे पहले तीसरे स्थान के लिए यूएसए और इंग्लैंड की टीमों के बीच मैच खेला गया। यूएसए ने रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड को 10 अंकों से शिकस्त दी। यूएसए की टीम ने 43 अंक हासिल किए जबकि इंग्लैंड की टीम 33 अंक पर ही रह गई।

विश्व कबड्डी कप के फाइनल मुकाबले में खेल मंत्री राणा गुरमीत सोढ़ी ने बतौर मुख्य मेहमान शिरकत की। इस मौके पर जेल व सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा, कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा और फरीदकोट के सांसद मोहम्मद सदीक भी विशेष रूप से उपस्थित हुए।

विश्व कबड्डी कप की विजेता भारतीय टीम को 25 लाख रुपये और ट्रॉफी से नवाजा गया। दूसरे स्थान पर रही कनाडा की टीम को 15 लाख रुपये प्रदान किए गए। तीसरे नंबर पर रही यूएसए की टीम को ईनाम में 10 लाख रुपये दिए गए।

वाडा ने डोपिंग को लेकर रूस में लगाया 4 साल का बैन, 2020 ओलंपिक में नहीं ले पाएगा भाग

दक्षिण एशियाई खेल: पदक विजेताओं के कोच को अब तक नहीं मिला कैश अवार्ड

बांग्लादेश: इस तीरंदाज ने तीसरे गोल्ड पर साधा निशाना, घर से भागकर ली थी ट्रेनिंग