भारत-चीन सीमा विवाद को सुलझाने के लिए शांति वार्ता पर नया मोड़

बीजिंग : बुधवार को भारत और चीन ने जटिल सीमा विवाद को सुलझाने के लिए शांतिपूर्ण बातचीत के प्रति कायम रहने पर सहमति जताते हुए निष्पक्ष, तर्कसंगत और परस्पर स्वीकार्य समाधान को प्रमुखता दी। पिछले कई दिनों से भारत-चीन के बीच जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने को लेकर तनातनी चल रही है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार यांग जिएची के बीच उन सभी विवादास्पद मुद्दों पर बात हुई, जिसके कारण दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध खराब हो रहे थे। इस बैठक में 3488 किमी वाली लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर विस्तृत, गहन और स्पष्ट विचार-विमर्श किया गया।

सीमा वार्ता के लिए दोनों देशों की ओर से क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों को सुलझाने के लिए अजीत डोभाल और यांग को विशेष रुप से प्रतिनिधि नियुक्त किया गया था।। इसके अलावा इन दोनों के बीच सभी जटिल द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा कर सकते है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -