अनुभव से बढ़ी मानव की महत्वता

किसी समय की बात हे एक प्रोफेसर थे जो अंग्रेजी व्याकरण में अखंड विद्वान थे उन्हे अपनी इस विद्या का बहुत घमंड था। एक बार वह प्रोफेसर एक नाविक के साथ नाव में बैठकर यात्रा कर रहे थे उसी दौरान उस प्रोफेसर ने उस नाविक से बड़े घमंड के साथ अपनी साहित्यिक उपलब्धियों को बताते हुऐ उस नाविक से पूछने लगे कि क्या तुमने कभी व्याकरण सीखी है तुम्हें कुछ आता जाता हे कि नहीं ?

तब नाविक ने कहा नहीं मैंने नहीं सीखा मुझे तो बस नाव चलाना आती है तभी अभद्र वचनों के साथ प्रोफेसर ने कहा कि तब तो तुमने अपनी आधी जिंदगी बर्बाद कर दी तुम्हार जीवन व्यर्थ हे नाविक उस प्रोफेसर के द्वारा कहे गये उन वचनों को सुनकर बहुत परेशान व दुखी हो गया बाहर से वह शांत रहा पर मन ही मन बहुत परेशान होकर सोचने लगा।

कुछ ही समय पश्चात उन दोनों के सामने एक संकट आया कि नदी मे पानी तेज गती से चलने लगा जल की लहरे उफान लेने लगी और देखते ही देखते नाव भवर मे फस गई और नाविक ने बहुत कोशिस कि पर नाव को बाहर निकाल नहीं पाया। और कहने लगा कि प्रोफेसर, तुम्हें तैरना आता है कि नहीं?

अब इन उफनाती लहरों में नाव डूब जायेगी तब उस प्रोफेसर ने बड़े गुस्से के साथ कहा कि मुझे नहीं आता हे तुम मुझसे तैरनें की उम्मीद मत रखना मे ये सब बेकार के काम नहीं करता न ही ऐसे कामों मे अपना समय व्यर्थ गमाता तब नाविक ने कहा अच्छा तो ठीक हे अब यह नाव लहरों में डूबने जा रही है और यहाँ तुम ही एक ऐसे हो जिसे तैरना नहीं आता है तुमने भी अपनी आधी जिंदगी बर्बाद कर दी है।

क्योंकि तुम्हें तैरना नहीं आता और यह नाव अब डूब जायेगी यह बात उस सात्विक सत्य की और इशारा कर रही है कि आप अपनी ज़िंदगी कैसे बिता रहे हे और अपने जीवन मे किन किन चीजों को महत्वता देते हे। इसी के साथ यदि आपको आपके द्वारा किये गये कार्य या आपकी विद्वता पर घमंड हे तो आप कहीं न कहीं जरूर गिरेगें दुनिया मे हर एक कार्य का कोई न कोई स्थान व उसका महत्व होता हे कोई कार्य छोटा बड़ा नहीं होता है।

पर प्रोफेसर व्याकरण की पुस्तकों के अध्ययन में इतना व्यस्त था कि उसे बाहरी दुनिया से कोई मतलब नहीं था उसने अपने जीवन में कभी कुछ और सीखने की जरूरत ही नहीं समझी। व्यक्ति अपना जीवन वैज्ञानिक लक्ष्यों को पाने में लगा देता है वह सामाजिक ज्ञान के साथ साथ दैनिक ज्ञान को भूल जाता है व्यक्ति को किताबी ज्ञान के अलावा समाजिक व भौतिक ज्ञान होना अति आवश्यक है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -