भारतीय बाजार में आई कोरोना की सबसे सस्ती दवा, कीमत मात्र 33 रुपए

Aug 14 2020 04:17 PM
भारतीय बाजार में आई कोरोना की सबसे सस्ती दवा, कीमत मात्र 33 रुपए

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के उपचार में इस्तेमाल होने वाली फेविपिराविर ड्रग से बनाई गई मेडिसिन 'फेविलो' को हैदराबाद की जेनरिक फार्मा कंपनी MSN ग्रुप ने लॉन्च किया है। इसे कोरोना की सबसे सस्ती दवा के तौर पर मार्केट में लांच किया गया है। फेविलो मार्केट में आने वाली कोरोना की सबसे सस्ती दवा है।

इसकी 200 Mg फेविपिराविर की एक टेबलेट 33 रुपए निर्धारित की गई है। कंपनी आगे जल्द ही 400 एमजी टेबलेट भी लॉन्च करने की योजना बना रही है। उल्लेखनीय है कि, इससे पहले भी कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए MSN ग्रुप एंटीवायरल ड्रग ऑसेल्टामिविर को ऑस्लो नाम से बाजार में लांच किया जा चुका है जो 75 एमजी की टेबलेट है। कोरोना संक्रमित मरीजों को ये मेडिसन हल्के लक्षणों और मध्यम लक्षण होने पर दी जाती हैं।

आपको बता दें कि फेविलो लाने वाली फेविपिराविर ड्रग का उत्पादन जापानी कंपनी फुजीफिल्म होल्डिंग कॉर्प बड़े पैमाने पर करती आई है। इस कंपनी ने इस दवा को एविगन के नाम से बाजार में लांच किया था। आपको बता दें कि ये दवा 2014 से इन्फ्लुएंजा के उपचार में इस्तेमाल की जाती रही है।

अब भारत में दवाओं की भी होम डिलीवरी करेगा Amazon, इस शहर से होगी शुरुआत

15 अगस्त को 'वन नेशन वन हेल्थ कार्ड' लांच कर सकते हैं पीएम मोदी, आपको होगा ये बड़ा फायदा

आर्थिक संकट से निपटने के लिए तैयार टाटा स्टील, बनाया 20,144 करोड़ रुपये का इमरजेंसी फंड