घरेलु नुस्खों से भी दूर होती है थायराइड की तकलीफ

थायराइड असल में गले में स्थित एक ग्रंथि का नाम है। यह ग्रंथि गले के आगे के हिस्से में मौजूद होता है और इसका आकार एक तितली के समान होता है थायराइड हार्मोन का स्राव जब असंतुलित हो जाता है तो शरीर की समस्त भीतरी कार्यप्रणालियां अव्यवस्थित हो जाती हैं। यह समस्या पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में देखी जाती है. वैसे तो इसका एलोपेथिक इलाज मौजूद है लेकिन हम आपको इसके कुछ घरेलु उपायों के बारे में बताएँगे।

थायराइड के मरीजों को थकान बड़ी जल्दी लगने लगती है और वे जल्दी ही थक जाते हैं। एैसे में मुलेठी का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। मुलेठी में मौजूद तत्व थायराइड ग्रंथी को संतुलित बनाते हैं। और थकान को उर्जा में बदल देते हैं। मुलेठी थायराइड में कैंसर को बढ़ने से भी रोकता है। जौ, पास्ता और ब्रेड़ आदि साबुत अनाज का सेवन करने से थायराइड की समस्या नहीं होती है क्योंकि साबुत अनाज में फाइबर, प्रोटीन और विटामिन्स आदि भरपूर मात्रा होता है जो थायराइड को बढ़ने से रोकता है. अदरक में मौजूद गुण जैसे पोटेशियम, मैग्नीश्यिम आदि थायराइड की समस्या से निजात दिलवाते हैं। अदरक में एंटी-इंफलेमेटरी गुण थायराइड को बढ़ने से रोकता है और उसकी कार्यप्रणाली में सुधार लाता है।

थायराइड की समस्या वाले लोगों को दही और दूध का इस्तेमाल अधिक से अधिक करना चाहिए। दूध और दही में मौजूद कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स थायराइड से ग्रसित पुरूषों को स्वस्थ बनाए रखने का काम करते हैं। आपको कुछ चीजों से दुर भी रहना चाहिए। रेड मीट खाने से थाइराइड वालों को बदन में जलन की शिकायत होने लगती है। थायराइड से ग्रसित लोगों को घी से भी दूरी बनानी चाहिए एयर साथ ही साथ शराब, कैफीन आदि से भी खुद को दूर रखना चाहिए।

ये नुस्खे अपनाएंगे तो नहीं होंगी बालों से संबंधित समस्याएं

गर्म मौसम में भी शरीर को कूल रखता है गुलकंद

बहुत सी बीमारियों का इलाज है अंजीर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -