CIC सम्मेलन में पहुंचे अमित शाह, कहा- लोकतंत्र की यात्रा में मील का पत्थर है RTI एक्ट

CIC सम्मेलन में पहुंचे अमित शाह, कहा- लोकतंत्र की यात्रा में मील का पत्थर है RTI एक्ट

नई दिल्ली: मोदी सरकार 2.0 में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि पारदर्शिता और जवाबदेही ये दोनों ऐसे अंग हैं जिसके आधार पर ही हम बेहतर प्रशासन और सुशासन प्रदान कर सकते हैं। अमित शाह ने कहा कि पारदर्शिता और जवाबदेही दोनों को आगे बढ़ाने के लिए आरटीआई एक्ट (RTI Act) ने बहुत बड़ी मदद की है।

केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें वार्षिक सम्मेलन में भाषण देते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि, 'मैं मानता हूं कि हमारी लोकतंत्र की यात्रा में आरटीआई एक्ट एक बड़ा मील का पत्थर है।' हमारी लगातार चलने वाली लोकतांत्रिक यात्रा का एक मील का पड़ाव है। अमित शाह ने कहा कि, 'पिछले 14 वर्षों में आरटीआई एक्ट की वजह से जनता और प्रशासन के बीच की खाई को पाटने में बहुत सहायता मिली है और जनता का प्रशासन व व्यवस्था के प्रति भरोसा बढ़ा है।'

अमित शाह ने कहा कि, '1990 तक सिर्फ 11 ही देशों में RTI का कानून था और सूचना का अधिकार था। वैश्वीकरण, आर्थिक उदारीकरण और तकनीक इनोवेशन के युग का प्रारंभ होते ही ये तादाद बढ़ने लगी। आरटीआई की वजह से कई देशों में अच्छे प्रशासनिक परिवर्तन देखने को मिले हैं जिसमें भारत भी एक देश है।' 

शरद पवार बोले, 80 साल का हो चुका हूँ, लेकिन एनर्जी लेवल अब भी 30 साल के युवा जैसा

कांग्रेस का ममता सरकार पर हमला, बंगाल में की राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग

महाराष्ट्र: गरीबों को 10 रुपए में भोजन, महिलाओं के लिए हॉस्टल, शिवसेना ने जारी किया मैनिफेस्टो