हरीश रावत ने पहले भी कहा था- चुनाव नहीं लडूंगा, लेकिन फिर लड़े: हरक सिंह रावत

देहरादून: कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने बताया कि दबाव बनाना हरीश रावत की पुरानी तरकीब है। हरिद्वार में हरकी पौड़ी में भी हरीश रावत ने बोला था कि मैं चुनाव नहीं लडूंगा, मगर उन्होंने चुनाव लड़ा। केंद्रीय मंत्री तथा सीएम रहे। सोशल मीडिया में तैर रहे एक वीडियों में हरक ने हरीश रावत के ट्वीट को लेकर पूछे गए प्रश्न पर बोला कि मुझे लगता है कि हरीश रावत एवं उनके सपोटर्स आरम्भ से यह चाहते थे कि कांग्रेस सीएम का चेहरा घोषित करे। प्रभारी देवेंद्र यादव व राष्ट्रीय नेतृत्व की तरफ से बयान आया कि कांग्रेस सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी। मुझे लगता है कि कहीं न कहीं, कांग्रेस में विरोधी धड़ा इस बात को लेकर आक्रामक रहता है। हरीश रावत को प्रतीत हो रहा है कांग्रेस की सरकार आ गई तो पार्टी उन्हें सीएम नहीं बनाएगी। वह चुनाव से ठीक पहले इस प्रकार का दबाव बना रहे हैं। ये उनका पुराना तरीका है। हरक ने बताया कि मुझे याद है जब हरीश रावत प्रदेश अध्यक्ष थे। उन्होंने हरिद्वार हरकी पौडी में धरना दिया कि मैं इसके पश्चात् कोई चुनाव नहीं लडूंगा। तत्पश्चात, 2009 का लोकसभा चुनाव लड़े। 2014 में पत्नी को चुनाव लड़ाया। केंद्र में मंत्री रहे, सीएम रहे।

वही उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत के ट्वीट से मचे राजनीतिक हंगामे पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि हाईकमान ने सभी सीनियर नेताओं को दिल्ली बुलाया है। वह गारंटी के साथ बोलते हैं कि एक-दो दिन में इसकी सुखद परिणति होगी। हालांकि ट्वीट के पश्चात् उपजे प्रश्नों में कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल का दर्द भी छलक उठा। 

उन्होंने स्वीकार किया कि कांग्रेस संगठन को दुरुस्त करने की आवश्यकता है। बकौल गोदियाल, संगठन उन्हें विरासत में मिला, उनके अतिरिक्त वहां कोई परिवर्तन नहीं हुआ। हरीश रावत के व्यथित होने के प्रश्न पर गोदियाल ने कहा कि पार्टी में कुछ लोग होते हैं, जिनकी निष्ठा कांग्रेस पार्टी की ओर न होकर लोगों की ओर होती है। मैंने महसूस किया कि हरीश रावत इन बातों से दुखी थे। 

यूपी चुनाव: SP-RLD की संयुक्त रैली में शामिल नहीं होंगे अखिलेश यादव, सामने आई बड़ी वजह

कमलनाथ के प्रियंका गाँधी को मध्यप्रदेश बुलाने पर बोले नरोत्तम मिश्रा- राहुल गांधी जी से दस दिन में...

राजनीति अपनी जगह, शिष्टाचार अपनी जगह.., मोदी-योगी ने फिर दिखा दिया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -