निशानेबाजी में भारत के गौरव गगन नारंग को जन्मदिन की शुभकामनाएँ

भारतीय निशानेबाजी का चमकते सितारे गगन नारंग को जन्म दिन की ढेरो शुभकामनायें. नारंग इंटरनेशनल स्तर पर भारतीय उपमहाद्वीप के निशानेबाजी खेल को दुनिया के शीर्ष देशों के बीच शामिल करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. गगन नारंग 2012 में लंदन में होने वाले ओलंपिक में भारत की ऐस एयर राइफल निशानेबाजी में एक व्यक्तिगत पदक जीतने वाले पहले भारतीय हैं. 6 मई 1983 को चेन्नई, तमिलनाडु में जन्में गगन नारंग मूल रूप से हरियाणा, पानीपत के निवासी हैं. इस समय गगन नारंग का परिवार हैदराबाद में है. वर्ष 2010 में, गगन नारंग को पद्म श्री पुरूस्कार से सम्मानित किया गया था. 29 अगस्त 2011 को, गगन नारंग को प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया था, जो वर्ष 2010 में भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार था.

वर्ष 2003 में अफ्रो एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले गगन नारंग, अपने वादे पर खरे उतरे और 2010 में नई दिल्ली में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में सफलता के साथ प्रसिद्धि हासिल की. भारतीय गणना के अनुसार, राष्ट्रमंडल खेलों में गगन नारंग ने 4 स्वर्ण पदक जीते हैं और इस खेल में, इस तरह का प्रदर्शन करने वाले वह भारत के एकमात्र खिलाड़ी हैं. .

2010 में एशियाई खेलों में, गगन नारंग ने व्यक्तिगत रजत पदक जीता था. गगन नारंग ने वर्ष 2006 में गुआंगज़ौ में होने वाले आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में प्रतिष्ठित स्वर्ण पदक जीतकर देश को गौरवान्वित कर दिया था और उसी वर्ष मेलबर्न में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में चार स्वर्ण पदकों के साथ अपनी चौथी जीत को 2010 की उपलब्धि में पुनः दोहराया था. बैंकाक में होने वाले आईएसएसएफ विश्व कप के फाइनल में गगन नारंग ने स्वर्ण पदक जीता था और जिसके परिणामस्वरूप वह एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाने में सफल हुए थे. गगन नारंग अंतरराष्ट्रीय खेल में सफलता हासिल करने वाले तीसरे भारतीय निशानेबाज हैं. 

 

जब फुटबाल फैन ने क्रेन पर चढ़कर देखा मैच

शतरंज : टोपालोव और कार्लसन ने जीते अपने मैच

बैंकॉक मास्टर्स शतरंज में भारत को दूसरा स्थान

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -