राजस्थान: बहन की बेटी से दुष्कर्म कर की हत्या, सुनाई गई फांसी की सजा

Sep 19 2015 03:34 PM
राजस्थान: बहन की बेटी से दुष्कर्म कर की हत्या, सुनाई गई फांसी की सजा

प्रतापगढ़ | गौरतलब है की भारत में दुष्कर्म के मामलो में अदालतों द्वारा नरमी नही दी जाती है व आपको बता दे की इससे पहले वर्ष 2013 में राजसमंद में भी बच्ची से दुष्कर्म व हत्या के मामले में आरोपी को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है। 2008 में प्रतापगढ़ शहर में राजस्थान बैंक में डकैती के दौरान हत्या और 15 वर्ष पहले धनेसरी गांव में अफीम लूट व हत्या के मामले में एक आरोपी को भी फांसी की सजा सुनाई गई थी। व ऐसे ही एक मामले में जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरेन्द्र कुमार स्वामी की कोर्ट ने मुंहबोली बहन की आठ साल की बेटी की दुष्कर्म के बाद हत्या करने के आरोपी 25 वर्षीय युवक प्रहलाद मीणा को फांसी की सजा सुनाई है। 

कोर्ट ने कहा की यह घटना 6 जुलाई 2013 की है। भाटोलिया निवासी पीड़िता के पिता ने मामला दर्ज कराया था कि उसकी बेटी अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी। व तभी अचानक से 25 वर्षीय युवक प्रहलाद मीणा वहां पर आया व मेरी बेटी को चाॅकलेट दिलाने के बहाने लेकर गया और दुष्कर्म के बाद पत्थरों से कुचलकर उसकी हत्या कर दी। अदालत ने दोहराया की   ऐसे अभियुक्त समाज के लिए बहुत बड़ा खतरा है, ऐसे में नरमी का औचित्य नहीं है।