उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर, क्रोम में जल्द ही मिलेगा नया अपडेट

उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर, क्रोम में जल्द ही मिलेगा नया अपडेट

गूगल क्रोम ब्राउज़र उपभोक्ता के लिए एक कड़ी सिक्योरिटी का बंदोबस्त करने की तैयारी में लगा हुआ है. गूगल क्रोम जल्द ही एचटीटीपीएस (HTTP) को डिफॉल्ट के रूप में उपयोग करने की कोशिश करेगा. ये उस वक़्त  बहुत काम आएगा जब उपभोक्ता एचटीटीपी (http) या एचटीटीपीएस (https) प्रीफिक्स लिखना भूल जाते हैं. ये कदम ब्राउजर सुरक्षा बढ़ाने के लिए क्रोम इंजीनियरों के कोशिशों के अनुरूप है. जेडडी ने पिछले हफ्ते की रिपोर्ट में कहा कि एचटीटीपीएस- पहला परिवर्तन क्रोम 90 में आएगा, जिसे इस साल अप्रैल के बीच में रिलीज़ किया जाने वाला है.

मौजूदा समय में जब कोई उपभोक्ता ओम्निबॉक्स में एक लिंक टाइप करता है – क्रोम एड्रेस (URL) बार – क्रोम प्रोटोकॉल की परवाह किए बिना टाइप किए गए लिंक को लोड करने लगेगा. लेकिन अगर उपभोक्ता प्रोटोकॉल नहीं जोड़ते हैं, तो क्रोम प्रीफिक्स एचटीटीपी जोड़ देगा और एचटीटीपी के माध्यम से डोमेन को लोड करने का कोशिश करने वाला है. क्रोम सुरक्षा इंजीनियर एमिली स्टार्क के मुताबिक ये क्रोम 90 में परिवर्तन देखने को मिलेगा.

V 90 से शुरू होकर एचटीटीपी के माध्यम से वेबसाइट को खोलने की कोशिश करेगा, जब उपभोक्ता किसी URL को टाइप करते वक़्त  प्रीफिक्स छोड़ देते हैं. गूगल ने पहले कहा था कि क्रोम में सुरक्षित ब्राउजिंग स्वचालित रूप से आपको दुर्भावनापूर्ण विज्ञापनों से बचाने वाले है और खतरनाक साइटों पर जाने या संदिग्ध फाइलों को डाउनलोड करने से पहले आपको चेतावनी देती है. गूगल ने कहा, अगर आप क्रोम का इस्तेमाल करते हैं, तो आपकी पासवर्ड सुरक्षा स्वचालित रूप से अंतर्निहित हैं. क्रोम पहले से ही लोगों को चेतावनी देता है जब वे असुरक्षित एचटीटीपी पेज पर पासवर्ड या पेमेंट कार्ड डेटा सहित सेंसिबल जानकारी शेयर करते हैं.

बंगाल चुनाव: नंदीग्राम जीतने की जंग शुरू, ममता के रहने के लिए ढूंढें गए दो किराए के घर

1 साल से छात्रा को धर्मान्तरण के लिए प्रताड़ित कर रहा था सलमान, खंडवा में 'लव जिहाद' का पहला केस दर्ज

नेटफ्लिक्स का देश में यह अब तक का सबसे बड़ा साल होगा: मोनिका शेरगिल