देश के टुकड़े करने वालों को गंभीर ने लताड़ा, कहा - इन्हे यहाँ रहने का कोई हक़ नहीं

नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व खब्बू बल्लेबाज़ गौतम गंभीर ने इसी वर्ष क्रिकेट को अलविदा कहा और अब वे पूर्वी दिल्ली से लोकसभा के लिए भाजपा के प्रत्याशी हैं. गंभीर ने मंगलवार को ही पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से अपना नामांकन भरा. गंभीर ने नामांकन भरने के बाद पहली बार साक्षात्कार दिया. इस इंटरव्यू में क्रिकेट के मैदान पर अक्सर शांत रहने वाले गंभीर ने देश के मौजूदा हाल पर खुल कर बात की. 

गंभीर ने देशभक्ति पर बात करते हुए कहा है कि जो देश का बंटवारा करने में करते हों उन्हें यहां रहने का कोई अधिकार नहीं है. पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर एक्टिव रहे गंभीर ने कई बार राष्ट्रभक्ति पर जोशीले ट्वीट पोस्ट किए हैं. इसके बावजूद उनका मानना है कि लोग केवल ट्वीट करते है किन्तु कम लोग ही ज़मीनी स्तर पर काम कर पाते हैं, वे केवल ऐसी कमरों में बैठ कर ट्वीट करने में विश्वास नहीं करते. उन्होंने कहा है कि, 'मेरे लिए देश सबसे पहले है उसके बाद मेरे माँ बाप आते हैं और उसके बाद बाकी सब है. विश्व के किसी भी कोने में चला जाऊ, लोग शायद मुझे मेरे नाम से न पहचाने किन्तु मेरे देश के नाम से मुझे पहचानते है, लोग पूछते है की आर यू एन इंडियन? ( क्या आप भारतीय हैं.) 

गंभीर अभी तक सोशल मीडिया पर कश्मीर और राष्ट्र की सुरक्षा के मामले में काफी एक्टिव दिखाई दिए हैं. उन्होंने जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती को कश्मीर को हालात के लिए ज़िम्मेदार करार दिया है. अब्दुल्ला ने इतने सालों तक राज किया किन्तु उनमें वहां के हालात सुधारने की इच्छाशक्ति नहीं थी. 

खबरें और भी:-

पीएम मोदी पर अखिलेश यादव ने साधा निशाना, BJP को कहा भागती जनता पार्टी

शिवसेना-भाजपा भाई-भाई, प्रचंड बहुमत से जीतेगा एनडीए - सीएम फडणवीस

ग़ाज़ीपुर में गरजे अमित शाह, कहा बुआ-भतीजा और राहुल बाबा देश को सुरक्षित नहीं कर सकते

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -