नवरात्रि व्रत के दौरान 'शारीरिक संबंध से लेकर तंबाकू' खाने तक... भूलकर भी ना करें ये गलतियां

नवरात्रि व्रत के दौरान 'शारीरिक संबंध से लेकर तंबाकू' खाने तक... भूलकर भी ना करें ये गलतियां
Share:

चैत्र नवरात्रि का 22 मार्च से शुंभारंभ हो गया है। नवरात्रि में 9 दिन तक उपवास करने से मां की खास कृपा आती है। इस के चलते बहुत से लोग नवरात्रि का व्रत करते हैं। यदि आप व्रत करने जा रहे हों तो कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखें जिससे व्रत का पूरा फल मिले तथा स्वास्थ्य पर भी खराब प्रभाव न पड़े।

इन चीजों का रखें ध्यान:-
* यदि आप भी नौ दिनों का व्रत करने जा रहे हों तो दशमी को ही व्रत का पारण करें मतलब व्रत खोलें। वहीं पहले दिन और अष्टमी को व्रत करने वाले लोगों को नवमी को व्रत खोल लेना चाहिए।
* पूरे 9 दिनों तक उपवास करने वाले प्रयास करें कि अनाज के अतिरिक्त दूसरी चीजें लें, जो उपवास में ली जाती हैं, इससे व्रत पूरा होता है।
* इस के चलते बहुत से लोग प्याज और लहसुन नहीं खाते हैं, ऐसी मान्यता है कि इससे देवी प्रसन्न होती हैं।
* इसके चलते बाल और नाखून भी नहीं काटे जाते हैं।
* उपवास के चलते तेल वाली चीजें या अधिक मीठी चीजें न लें। इससे उपवास के फायदों की जगह सेहत को नुकसान अधिक होता है।
* उपवास के चलते ज्यादा से ज्यादा तरल पेय लें जिससे शरीर में पानी की कमी न हो। फलों का रस, नारियल पानी भी लिया जा सकता है।
* नवरात्रि के दौरान काले कपड़े न पहनें।
* नवरात्रि के चलते अखंड दीप निरंतर जलना चाहिए। इसे बुझने न दें।
* नवरात्रि के चलते नशीले पदार्थों जैसे तंबाकू, गुटखा नहीं खाना चाहिए।
* नवरात्रि के चलते साथी से शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाने चाहिए। ऐसा करने से उपवास निष्फल हो जाता है।
* उपवास के चलते कुट्टू के आटे से बनी रोटी, पूरी, शामक चावल, शामक चावल से बना डोसा, साबूदाने के बड़े, खिचड़ी, सिंघाड़े का हलवा, राजगीरा, रतालू, अरबी, शक्करकंद से बना मीठा खा सकते हैं।

नवरात्रि में लौंग का ये टोटका ख़त्म कर देगा आपकी सभी समस्याएं

कौन है मां ब्रह्मचारिणी? यहाँ जानिए व्रत कथा

आज नवरात्रि के दूसरा दिन, ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -