फ्रांस: एक बच्ची के झूठ के चलते हुई थी 'सैमुअल पैटी' की हत्या, पैगम्बर कार्टून विवाद में बड़ा खुलासा

फ्रांस: एक बच्ची के झूठ के चलते हुई थी 'सैमुअल पैटी' की हत्या, पैगम्बर कार्टून विवाद में बड़ा खुलासा
Share:

पेरिस: फ्रांस में कुछ दिन पहले कथित तौर पर पैगंबर मोहम्मद का कार्टून कक्षा के छात्रों को दिखाने पर सैमुअल पैटी नाम के एक टीचर की गला रेतकर हत्या किए जाने का मामला प्रकाश में आया था। अब खबर है कि ये पूरा मामला एक झूठ पर आधारित था, जिसे बच्ची ने अपने पिता के डर के कारण बोला था। 7 मार्च 2021 को 13 साल की एक फ्रांसीसी लड़की ने इस बात को कबूल किया कि उसने अपने पिता के गुस्से से बचने के लिए अपने शिक्षक पर तोहमत लगाई थी जबकि वास्तविकता तो यह थी कि वह उस दिन क्लास में ही नहीं थी।

फ्रांसीसी अखबर Le Parisien में बताया गया कि लड़की ने जज के सामने घटना को लेकर कहा कि उसने अपने अब्बा से झूठ बोला था और वह उस दिन कक्षा में भी प्रेजेंट नहीं थी, जहाँ टीचर पैटी ने पैगंबर मुहम्मद का चित्रण करते हुए स्टूडेंट्स को विवादास्पद कार्टून दिखाए। दरअसल, बच्ची नहीं चाहती थी कि उसके घर में ये बात पता चले कि उसे क्लास में गैरमौजूद होने के चलते निलंबित कर दिया गया था। इसलिए उसने अपने टीचर को लेकर झूठी कहानी गढ़ी। लड़की ने अपने पिता को बताया कि पैटी ने मुस्लिम छात्रों को कक्षा छोड़ कर जाने के लिए कहा क्योंकि वह एक पाठ पढ़ाते हुए शार्ली एब्दो न्यूजपेपर में छपे पैगंबर मोहम्मद का विवादित चित्र दिखा रहे थे।

अब यहाँ इस तथ्य को जानने के बाद यह स्पष्ट है कि 13 वर्षीय एक बच्ची के झूठ ने उन कारणों को जन्म लिया, जिससे पूरी घटना घटी व सैमुअल पैटी की बेरहमी से हत्या कर दी गई। पहले तो लड़की के पिता ने उसकी झूठी कहानी की सच्चाई जाने बिना सोशल मीडिया पर स्कूल व शिक्षक के खिलाफ अभियान छेड़ दिया। फिर पैटी को टारगेट करते हुए उसे नौकरी से निकालने की माँग की। जिसके बाद टीचर को मारने की धमकियाँ मिलने लगीं। नतीजतन केवल 10 दिन के भीतर एक अन्य कट्टरपंथी ने उनकी हत्या भी कर दी।

जांच में बाद में पता चला कि लड़की के पिता, पैटी के कातिल अब्बुदलाख अंजोरोव के साथ संपर्क में थे। अभियोजन पक्ष का ये भी दावा है कि दोनों के बीच सीधा संपर्क था। कातिल ने पैटी को मारने से पहले लड़की के पिता को एक मैसेज किया था कि वह पैटी को किचन वाले चाकू से मारने वाला है। बता दें कि साल 2020 में फ्रांस में हुई इस वारदात ने पूरी दुनिया को झकझोर दिया था। चारों तरफ से इस्लामी कट्टरपंथियों के खिलाफ आवाज उठी थी। इसके बाद राष्ट्रपति मैक्रों ने इस्लामी कट्टरपंथ पर अपना मत स्पष्ट किया था। अब इसी मामले में हत्यारे के अलावा दो अन्य किशोरों के खिलाफ तफ्तीश चल रही है। 

जब कोर्ट में बोला अंडरवर्ल्ड डॉन रवि पुजारी, कहा- मुझे पुलिस हिरासत में ही रहना है

फरवरी में वाहन पंजीकरण में आई 13.43 प्रतिशत की गिरावट: FADA

मिशेल ओबामा को महिला हॉल ऑफ फेम में किया जाएगा नियुक्त

 

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -