सऊदी राजनयिक के सचिव पर दुष्कर्म मामले में विदेश मंत्रालय ने मांगी जांच रिपाेर्ट

गुड़गांव। खबर आ रही है की भारत में सऊदी अरब के राजदूत के सचिव (प्रथम) पर दुष्कर्म व यौन शोषण के गंभीर आरोप लगे है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एसीपी क्राइम गुड़गांव राजेश कुमार ने अपने बयान में कहा की इसमें एक एनजीओ की शिकायत पर गिरफ्तारी के लिए विशेष प्रक्रिया अपनाई जा रही है. हमने दोनों सहायिकाओं को आरोपी के गुड़गांव स्थित मकान से मुक्त कराया है, व उनकी शिकायत पर सचिव, उसकी पत्नी और दो बेटियों के विरुद्ध FIR दर्ज कर ली है. आगे कहा की नेपाल की दो युवतियां पांच महीने पहले दिल्ली आई थी. वे यहां पर एक दलाल के लालच में आ गई, दलाल ने उन्हें कहा था की वो उन्हें सऊदी अरब में नौकरी दिलवाएगा  व 30 हजार रुपये वेतन के साथ-साथ मुफ्त खाने-रहने की सुविधा भी मिलेगी. तथा इसके लिए इन दोनों नेपाली युवतियों ने दलाल को एक लाख रुपये कमीशन भी दिया था. व दलाल ने उन्हें सऊदी अरब दूतावास में बतौर डिप्लोमैट तैनात युवती रोजा से मिलवाया, व रोजा के पिता भी सऊदी अरब दूतावास में बतौर सचिव (प्रथम) तैनात हैं। रोजा दोनों को अपने घर ले आई। इसके बाद दोनों घरेलू सहायिकाओं समेत पूरा परिवार सऊदी अरब के जैदा शहर चला गया। वहां पर दोनों सहायिकाओं के साथ यौन शोषण का सिलसिला शुरू हुआ। पीड़िताओं के मुताबिक विरोध करने पर उनकी पिटाई भी की जाती थी। 

पीड़िता ने कहा की रोजा के पिता 45 वर्षीय माजिद के अलावा उनके परिचित लोग भी दुष्कर्म करते थे. तथा डेढ़ महीने पहले ही यह पूरा परिवार भारत आया व यहां पर गुड़गांव के  एंबियंस मॉल के पीछे कैटरियोना सोसायटी के टावर ई के फ्लैट संख्या 502 में रहने लगे व यहां पर भी इन दोनों के साथ ऐसी ही घिनौनी करतूत जारी रही. इन दोनों पीड़िताओं ने कहा की जब एक नीतू नाम की तीसरी घरेलू सहायिका यहां पर काम करने आई तो वह भी यह अत्याचार को देख नेपाल भाग गई व वहां पर इस बात का जिक्र किया व मैती, लाइट हाउस फाउंडेशन और नेपाल दूतावास ने गुड़गांव पुलिस की मदद से मामले में हस्तक्षेप किया। तथा इस पर विदेश मंत्रालय ने राजनयिक के मामले में पुलिस से जांच रिपोर्ट मांगी है. व आगे की जांच के लिए फाइल महिला थाना पुलिस को सौंपी गई है. व दोनों का मेडिकल करा मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दर्ज करा दिए गए हैं. 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -