पहली बार देश में महिला मोटर स्पोर्ट्स रेसिंग की मेंबर निकली डोप पॉजिटिव

Jul 03 2020 04:12 PM
पहली बार देश में महिला मोटर स्पोर्ट्स रेसिंग की मेंबर निकली डोप पॉजिटिव

मोटर स्पोर्ट्स में देश में पहली बार महिला रेसिंग टीम की सदस्य डोप में पॉजिटिव निकली है. देश में मोटर स्पोर्ट्स में किसी भी महिला के डोप में फंसने का यह पहला मामला समाने आया है. फार्मूला फोर कार रेसर मृणालिनी सिंह नाडा की ओर से की गई सैंपलिंग में बीटा ब्लाकर के प्रयोग के लिए डोप रिपोर्ट पॉजिटिव निकली हैं. हालांकि वाडा की सूची में स्पेसीफाइड सब्सटेंस होने  के चलते मृणालिनी पर अस्थाई प्रतिबंध नहीं लगा है.

नाडा की ओर से नेशनल रेसिंग चैंपियनशिप के दौरान बीते वर्ष जुलाई में मृणालिनी का सैंपल लिए गए थे. अगस्त में एनडीटीएल के प्रतिबंधित हो जाने के बाद से इसे दोबारा टेस्टिंग के लिए दोहा लैब भेजा गया. दरअसल बीटा ब्लाकर का प्रयोग शूटिंग, मोटर रेसिंग और तीरंदाजी जैसे खेलों में पूरी तरीके से वर्जित है. फेडरेशन ऑफ मोटर स्पोर्ट्स क्लब्स ऑफ इंडिया के सेक्रेटरी जनरल राजन स्याल ने मृणालिनी के डोप में पॉजिटिव पाए जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि उन्हें बी सैंपल से छूट दे दी गई है.

इस बारें में सूत्रों का कहना है कि मृणालिनी ने डॉक्टर के कहने पर बीटा ब्लाकर का प्रयोग किया गया था. इसी वजह से उन्होंने अपना बी सैंपल टेस्ट नहीं कराया. इसके बावजूद उन्होंने डोपिंग में फंसने से बचने के लिए थेराप्यूटिक यूज एक्जंप्शन (टीयूई) के लिए आवेदन नहीं किया. इससे पहले बीते वर्ष मोटर बाइकर विजय सिंह नाडा की टेस्टिंग में स्टेरायड स्टेनोजोलॉल के प्रयोग के लिए डोप में फंसे थे. उन पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है.

आदित्य वर्मा का बड़ा बयान, आईसीसी में है कुशल नेतृत्व की आवश्यकता

वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने किया एलान, इंग्लैंड के खिलाफ 15 सदस्यीय टीम का होगा चुनाव

एक साल के लिए बढ़ाया गया विदेशी कोचों का अनुबंध, नए कोचों के लिए हुए बड़ा ऐलान