फादर्स डे 2018: आखिर किस दिन से मनाया गया था फादर्स डे, किसने की थी शुरुआत

माता-पिता से बच्चे का रिश्ता बहुत ख़ास होता है और अपने बच्चो के लिए दोनों ही सब कुछ कर गुजरने को तैयार रहते हैं. ऐसे में हर साल दो दिन ऐसे ख़ास आते हैं जिन्हे मदर्स डे और फादर्स डे के नाम से पुकारा जाता है. जी हाँ, ऐसे ख़ास दिन जिनमे हम अपने माँ और पापा दोनों को खुश करने के लिए उन्हें गिफ्ट्स देते है, प्यार देते हैं. ऐसे में हर साल केवल ये दो दिन ही नहीं बल्कि हमेशा ही माँ और पापा को प्यार देना चाहिए. माँ को ममता की मूर्ति कहा जाता है तो वहीँ पिता वो होते है जो संघर्ष की कहानी को बताते हैं. पिता की जगह हम किसी को नहीं दे सकते हैं क्योंकि वह बाहर से सख्त तो अंदर से नरम होते हैं. माता और पिता की जगह कभी कोई नहीं ले सकता. आपको बता दें कि हर साल पिता के लिए आने वाला एक दिन जल्द ही आने वाला है. जी हाँ, इसी महीने की 17 तारीख को फादर्स डे मनाया जाने वाला है.

हर साल फादर्स डे जून महीने की 17 तारीख को मनाया जाता है. इस दिन को वहीँ लोग सबसे ख़ास मानते हैं जिनको अपने पिता से बहुत लगाव होता है और हर साल इस महीने में यह दिन पिता को एक ख़ास अनुभव देने के लिए मनाया जाता है. इस दिन की शुरुआत कहाँ से हुई यह भी हम आपको बताते है. जी दरअसल में सबसे पहली बार आधिकारिक फादर्स डे 19 जून, 1910 को वाशिंगटन के स्पोकेन शहरम में मनाया गया था और इस दिन की शुरुआत सोनोरा डॉड ने की थी. सोनोरा डॉड की माँ की मौत उनके बचपन में ही हो गई थी और उस समय मदर्स डे मनाया जाता था लेकिन जब उनके पिता ने उनकी परवरिश की और उनके पिता ही उनके लिए माँ बने तो उन्होंने फादर्स डे मनाने के बारे में सोचा और उन्होंने पहली बार फादर्स डे मनाया.

कई समय बाद साल 1916 में अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने फादर्स डे मनाने की स्वीकृति दी. उसके बाद पहली बार 1966 में राष्ट्रपति लिंडन जॉनसन ने हर साल जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाए जाने की बात घोषित की.

'बच्चों को रुलाने' से लेकर 'पत्नी को कन्धों पर लेकर भागने' तक, यह हैं दुनिया के हैरतंगेज़ खेल

बढ़ती लोकप्रियता के चलते हज़ारों में बिकने वाली इस शराब के बदले दाम

यह है लन्दन की सबसे महँगी शराब

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -