FATF का एलान, कहा- 'भारत ने पाक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की...'

FATF का एलान, कहा- 'भारत ने पाक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की...'

इस्लामबाद: एफएटीएफ ने बीते सोमवार यानी 17 फरवरी 2020 को कहा कि उसकी सख्ती के बावजूद कई आतंकी गुटों को उनके समर्थकों की तरफ से आर्थिक मदद मिल रही है. जंहा इसके अलावा आतंकी गुट अवैध गतिविधियों से भी धन जुटा रहे हैं. इस बात पर भी गौर किया गया है कि भारत ने कहा है कि पाक लश्कर ए तैयबा, जैश ए मुहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन जैसे आतंकी संगठनों को लगातार मदद मुहैया करा रहा है, इसलिए इस्लामाबाद के खिलाफ एफएटीएफ कार्रवाई करे.

मिली जानकारी के अनुसार पेरिस में एफएटीएफ की पूर्ण बैठक हो रही है, जो हफ्ते भर चलेगी. जंहा इसमें पाकिस्तान की किस्मत का फैसला होना है कि वह ग्रे सूची में बना रहेगा या काली सूची में जाएगा. वहीं ग्रे सूची से निकलने के लिए पाकिस्तान को 39 में से 12 मतों की जरूरत होगी, जबकि काली सूची में जाने से बचने के लिए उसे तीन देशों का समर्थन चाहिए. पिछले साल हुई बैठक में उसे मलेशिया और तुर्की के साथ एफएटीएफ के तत्कालीन चेयरमैन देश चीन का समर्थन मिला था,जिससे वह काली सूची में जाने से बच गया था.

जंहा इस बात का पता चला है कि पाक का नाम लिए बिना एफएटीएफ ने एक बयान में कहा गया है कि पैसे जुटाने के लिए आतंकवादी विभिन्न माध्यमों को इस्तेमाल कर रहे है. सोशल मीडिया के माध्यमों से नए समर्थकों को फंसा रहे हैं और उनसे धन और अन्य तरह की मदद ले रहे हैं. मानवीय मदद देने वाले लोग भी आतंकवादियों के शिकार हो रहे हैं. वहीं इस बात को लेकर संगठन ने कहा है कि वह आतंकियों को मिलने वाली वित्तीय मदद पर निगरानी रख रहा है और वित्तीय सहायता देने वालों की पहचान करने में शासन-प्रशासन की मदद कर रहा है.  

कोरोना वायरस के चलते मानवाधिकार कार्यकर्ता ने की चिनफिंग के इस्तीफे की मांग, हुआ गिरफ्तार

कोरोना का साया अब चीन संसद सत्र पर साया, 105 मौते और ....

महिला जज ने बेटे की मौत के बाद उठाया बेड़ा, ड्राइवरों को देगीं मुफ्त ट्रेनिंग