BJP उम्मीदवार अभिजीत गंगोपाध्याय के विवादित बयान पर EC ने किया ये बड़ा एक्शन
BJP उम्मीदवार अभिजीत गंगोपाध्याय के विवादित बयान पर EC ने किया ये बड़ा एक्शन
Share:

कलकत्ता: कलकत्ता उच्च न्यायालय के पूर्व जज और तमलुक सीट से भाजपा प्रत्याशी अभिजीत गंगोपाध्याय विवादों में घिर गए हैं। चुनाव आयोग ने गंगोपाध्याय के चुनाव प्रचार पर 24 घंटे के लिए पाबंदी लगा दी है। वे 21 मई की शाम 5 बजे से चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे। आयोग ने गंगोपाध्याय को अपने सार्वजनिक बयानों में सतर्कता बरतने की भी सख्त चेतावनी दी है। चुनाव आयोग ने अभिजीत की टिप्पणियों की निंदा की तथा इसे निम्न स्तर का व्यक्तिगत हमला तथा महिलाओं का सीधा अपमान बताया है। 

चुनाव आयोग ने कहा, अभिजीत गंगोपाध्याय का ऐसा बयान जो किसी भी महिला के सिलसिले में इस्तेमाल किए जाने पर पूरी तरह से निंदनीय है। किसी वरिष्ठ राजनीतिक नेता की बात छोड़िए। एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को निशाना बनाया गया है। ECI ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को भी सलाह दी है कि वे अपनी पार्टी की तरफ से सभी उम्मीदवारों तथा प्रचारकों को एक एडवाइजरी जारी करें, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि चुनावी अभियान के चलते यह चूक दोबारा ना हो।

वही इससे पहले आयोग ने अभिजीत को नोटिस भेजा था तथा जवाब मांगा था। अब आयोग ने कहा, हमने अभिजीत के जवाब को ध्यान से पढ़ा है तथा दिए गए बयान को फिर से देखा है और आश्वस्त हैं कि उन्होंने निम्न स्तर का व्यक्तिगत हमला किया है और इस तरह आदर्श आचार संहिता के प्रावधान उल्लंघन किया है। ECI का कहना है कि अतीत एवं वर्तमान में महिलाओं को भारतीय समाज में सर्वोच्च सम्मान प्राप्त हुआ है तथा भारतीय संविधान और देश की सभी संस्थाओं ने सभी मोर्चों पर महिलाओं के अधिकारों एवं सम्मान को सुनिश्चित करने और उन्हें और अधिक सशक्त बनाने के विचारों और आदर्शों को निरंतर आगे बढ़ाया है।

ECI का कहना है कि आयोग चुनावी प्रक्रिया में महिलाओं के प्रतिनिधित्व एवं हिस्सेदारी को मजबूत करने में लगा है। जबकि इलेक्टोरल रजिस्ट्रेशन एवं वोटर टर्नआउट में जेंडर गैप में काफी सुधार हुआ है तथा वास्तव में महिलाएं आगे बढ़ी हैं। आयोग का कहना था कि इस प्रकार के घृणित शब्द अभिजीत गंगोपाध्याय की एजुकेशनल और प्रोफेशनल बैकग्राउंड से जुड़े व्यक्ति ने कहे हैं। इसलिए वो किसी भी लाभ के हकदार नहीं हैं। अभिजीत के शब्दों ने पश्चिम बंगाल को नुकसान एवं बदनामी पहुंचाई है, जहां महिलाओं के सम्मान की एक विशिष्ट परंपरा है। बता दें कि अभिजीत के खिलाफ टीएमसी ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी। TMC का कहना था कि गंगोपाध्याय ने सीएम ममता बनर्जी को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की है।

BJP विधायक के पोते ने की आत्महत्या, सामने आई ये वजह

MP में बड़ा हादसा, ब्रिज के नीचे गिरी तेज रफ्तार बस, 2 की मौत और दर्जनों घायल

आगरा की मस्जिद में मिली महिला की खून से सनी लाश, जाँच में जुटी पुलिस

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -