पाकिस्तान में इंसानों के साथ बढ़ रही है गधों की संख्या

गुरुवार को कश्मीर में हुए आतंकी हमले के बाद से ही पूरे देश में आक्रोश का माहौल फैला हुआ है. हर कोई पाकिस्तान की इस हरकत से गुस्सा है और उनकी कड़ी निंदा कर रहा है. हाल ही में ये सामने आया है कि पाकिस्तान की जिस तरह से हर साल इंसानों की आबादी बढ़ती जा रही है वैसे ही वहां पर गधों की भी तादाद सालाना बढ़ती जा रही है. इससे भी ज्यादा हैरानी की बात ये है कि पाकिस्तान की सरकार ही उनकी आबादी बढ़ाने के लिए अरबों रुपये खर्च करती है.

वर्ष 2017-18 के आर्थिक सर्वेक्षण की बात करे तो पाकिस्तान में गधों की संख्या एक साल में एक लाख बढ़ रही है. जी हां... इसके साथ ही बीबीसी की भी एक रिपोर्ट ये कहती है कि साल 2015-16 में पाकिस्तान में गधों की संख्या 51 लाख थी. इसके बाद ये संख्या बढ़कर साल 2016-17 में 52 लाख हो गई थी. इतना ही नहीं साल 2017-18 में उनकी संख्या बढ़कर 53 लाख हो गई है. जानकारी के लिए बता दें पाकिस्तान में गधों की संख्या बढ़ाने के लिए पाकिस्तान सरकार 'गधा विकास कार्यक्रम' भी चलाती है.

इस कार्यक्रम के तहत साल 2017 में इस कार्यक्रम में सरकार ने अरबों रुपये का निवेश किया था. रिपोर्ट्स की माने तो पाकिस्तान द्वारा ऐसा करने के पीछे सबसे बड़ा मकसद चीनी निवेशकों को खैबर-पख्तूनख्वाह की ओर आकर्षित करना है. दरअसल पाकिस्तान की सरकार को गधों के निर्यात से अच्छी आमदनी होती है और यह आय पाकिस्तान के सकल राष्ट्रीय उत्पाद का अहम हिस्सा होती है. साथ ही गधे की खाल को बहुत उपयोगी माना जाता है और इसका इस्तेमाल हेल्थ फूड और पारंपरिक दवा बनाने में भी किया जाता है इसलिए लोग पाकिस्तान से बड़े पैमाने पर गधे खरीदते हैं.

माइकल जैक्सन की तरह दिखने के लिए फैन ने किया अपना ऐसा हाल, खर्च हुए 21 लाख

इस देश में जोड़ियां ऊपर वाला नहीं बल्कि रोबोट्स बनाते हैं

सुपरमार्केट से सांसद ने चुराया सैंडविच, उसके बाद जो हुआ वो हैरान कर देगा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -