सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए पानी का करें दान

हिन्दू धर्म में बहुत से ऐसे रीति-रिवाज है, जो आज से नहीं बल्कि आदिकाल से चले आ रहे हैं, जिनका प्रभाव आज भी मानव जीवन महसूस कर सकता है ऐसे ही भगवान सूर्य को अर्ध्य देना भी कोई आज से नहीं बल्कि आदिकाल से यह प्रथा चली आ रही है। शास्त्र के माध्यम से सूर्य ब्रम्हाण्ड का स्वामी माना जाता है। भगवान सूर्य को जल चढ़ाने से अथवा अर्ध्य देने से वह हमसे प्रसन्न होते है और हमे हमारे सारे कष्टो से मुक्ति दिलाते हैं अगर आप भी अपने जीवन में कई तरह कि परेशानियों से मुक्ति पाना चाहते हैं तो यहा पर आज हम आपको भगवान सूर्य से जुड़ा एक ऐसा ही आसान सा उपाय बताने जा रहे हैं, जिसे करने के बाद निश्चित ही भगवान सूर्य आपसे प्रसन्न होगे और आपके सारे कष्ट दूर होगें।

भगवान सूर्य को प्रसन्न करने के लिए जल दान की विशेष महत्ता है। प्रतिदिन प्रातः काल लाल चंदन, लाल पुष्प ,चावल आदि ताबे के पात्र में जल भर कर प्रसन्न मन से सूर्य मंत्र का जाप करते हुये भगवान सूर्य को जल देकर पुष्पांजलि देनी चाहिए। इस जल दान से भगवान सूर्य प्रसन्न होकर आयु ,आरोग्य ,धन ,धान्य ,पुत्र तेज ,यश ,विद्या ,वैभव और सौभाग्य को प्रदान करते है तथा सूर्य लोक की प्राप्ति होती है।

 

बालक सिद्धार्थ से महात्मा गौतम बुद्ध बनने तक की दास्तान

पूर्णिमा पर यह दान देकर पाए भगवान की असीम कृपा

वीडियो: आपकी इन हरकतों से रूठ जाते हैं शनि

हिन्दू धर्म में क्यों माना जाता है सूर्य को भगवान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -