सुबह-सुबह बिना नहाए कर लें यह काम, सफल हो जाएगा जीवन

धर्मग्रंथों के मुताबिक कई सारे नियम और शुभ-अशुभ और उचित-अनुचित बाते, उपाय बताए गए हैं जिनका पालन अगर आप करें तो सफलता आपके कदम चुम सकती है. ऐसे में अधिकांश उपाय पूजा-पाठ नहाने के बाद ही करने के बारे में बताया गया है, लेकिन कुछ ऐसे भी शुभ कार्य हैं जो आप बिना स्नान किए कर सकते हैं. आज हम आपको उन्ही के बारे में बताने जा रहे हैं.  आइए जानते हैं.

सुबह जागते ही इस मंत्र का करें जाप -

हर दिन सुबह जागते ही स्त्री हो या पुरुष रोज, इस इस मंत्र का जाप जरूर करना चाहिए.

 मंत्र इस प्रकार है- 
ब्रह्मा मुरारिस्त्रिपुरान्तकारी भानुः शशी भूमिसुतो बुधश्च.

गुरुश्च शुक्रः शनि राहुकेतवः कुर्वन्तु सर्वे ममसुप्रभातम्..

मंत्र का अर्थ- ब्रह्मा, विष्णु, शिव, सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, बृहस्पति, शुक्र, शनि, राहु और केतु ये सभी देव मेरे प्रात को शुभ बनाएं. इस मंत्र के विषय में मान्यता है कि इसका जाप करने से सभी देवी-देवता और नौ ग्रहो प्रसन्न होते है और उनकी कृपा मिलती है. ऐसे में व्यक्ति को सभी तरह के दुर्भाग्य से मुक्ति मिलती है. कहा जाता है सुबह उठते ही सबसे पहले आपको अपनी हथेली देखनी चाहिए, क्योंकि हमारे हाथ के अग्रभाग में देवी लक्ष्मी, मध्य में देवी सरस्वती और हाथ के मूलभाग में भगवान विष्णु का वास है इस कारण से सुबह जागते ही अपनी दोनों हथेलियों को देखकर मंत्र का पाठ बेहद शुभ माना जाता है.

 मंत्र इस प्रकार है- 

कराग्रे वसते लक्ष्मीः करमध्ये सरस्वती.

करमूले तू गोविंद: प्रभाते करदर्शनम्..

कहा जाता है सुबह उठते ही धरती मां पर अपने पैरों को रखने से पहले धरती को प्रणाम या माथे से लगाना चाहिए, क्योंकि धरती मां के सीने पर हम चलते-फिरते हैं, दिनचर्या के काम करते हैं इस कारण से सुबह उठकर सबसे पहले धरती मां को प्रणाम कर उनसे क्षमा मांगना चाहिए.

जब गौतम बुद्ध ने करवाया था एक सेठ को गलती का अहसास

कार्तिक पूर्णिमा के दिन जरूर करें यह उपाय

बेटी जा रही है ससुराल तो करें यह एक काम, बन जाएगी ससुराल की रानी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -