कोरोना को लेकर मन में है भ्रम तो, यहां होगी शंका दूर

कोरोना संक्रमण को लेकर आपके मन में कई तरह के भ्रम होंगे. और यह भय सामान्य लोगों के साथ ही मधुमेह यानी डायबिटीज से प्रभावित लोगों के मन में ज्यादा बैठा हुआ है. बता दे कि हाल ही में आइसीएमआर (इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च) ने कुछ सवालों के जवाब लोगों की शंका दूर करने के लिए उपलब्ध कराए है.

​आखिर क्यों दीए जलाने के लिए पीएम मोदी ने चुना 9 बजकर 9 मिनट का समय ?

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि उपरोक्त किसी भी बीमारी की वजह से कोरोना संक्रमण का खतरा नहीं है. हां, ऐसे मरीजों को चिकित्सकों द्वारा बताई गई दवाओं का नियमित रूप से सेवन करते रहना चाहिए. समय और मौसम के आधार पर चिकित्सक की सलाह पर दवाओं को बदला जा सकता है. सुरक्षित शारीरिक दूरी संबंधी सरकार के नियमों का पालन कर कोरोना संक्रमण से खुद को बचाया जा सकता है.

लोगों को कोरोना की जानकारी देने अनोखे अंदाज में निकला यह शख्स

अगर बात करें लक्षण की तो कोरोना संक्रमण के शुरुआती लक्षण खांसी, गले में खराश और बुखार के होते हैं. ऐसे व्यक्ति जिन्हें पहले से सांस के संक्रमण संबंधी दिक्कत होती है, उन्हें अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है. अगर दो से तीन दिन में ही बलगम जैसी खांसी की शिकायत होती है, तो तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करना चाहिए. चूंकि कोरोना वायरस श्वसन प्रणाली को प्रभावित करता है, इसलिए अस्थमा या सीओपीडी के मरीजों को अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है. ऐसे में घर से बहुत जरूरी हो तभी बाहर निकलें. मुंह पर मास्क लगाएं और श्वसन प्रणाली मजबूत करने के लिए योग का नियमित अभ्यास करें. आहार में नियमित रूप से हरी सब्जियां और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में शामिल करें.

बजाज ऑटो ने अपनी इन दो बाइक्स को अपडेट्स के साथ किया लांच, जाने कीमत

बजाज ऑटो ने अपनी इन दो बाइक्स को अपडेट्स के साथ किया लांच, जाने कीमत

टाटा की टॉप वैरिएंट्स SUV नेक्सॉन XZ+ (S ) भारत में लांच, एडवांस फीचर्स से लैस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -