जितेंद्र डागा से मिले थे दिग्विजय सिंह, पुत्र ने किया चौकाने वाला खुलासा

मध्‍य प्रदेश की राजनीति जगत के नेताओं को बीते समय में कोरोना वायरस ने संक्रमित करने की कोशिश की थी. लेकिन पर्याप्त दूरी की वजह से नेता कोरोना की चपेट में आने से बच गए थे. वही, अब पूर्व कांग्रेस विधायक जितेंद्र डागा भी कोरोना वायरस (कोविड-19) की चपेट में आ गए हैं. स्वास्थ्य विभाग अब उनके संपर्क में आए सभी लोगों की जांच करने में जुट गया है. डागा के घर पर ही गरीबों की रसोई का संचालन किया जा रहा था. इसका शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विज सिंह ने किया था. पिछले 15 दिन में डागा ने दिग्विजय समेत कांग्रेस के कई नेताओं से मुलाकात की थी.

इस मामले को लेकर पूर्व विधायक के पुत्र अनुज डागा ने बताया कि उनके पिता ने स्वयं ही कोरोना जांच कराई थी. वे कुछ दिन से घर पर अलग कमरे में रह रहे थे. जांच रिपोर्ट आने के बाद चिरायु अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है. डागा की रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही डागा हाउस पर चल रही गरीबों की रसोई को अस्थाई रूप से बंद कर दिया गया है. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उनकी पत्नी निशी डागा एवं पुत्र अनुज डागा के अलावा घर के कर्मचारियों एवं भोजन बनाने वालों के भी सैंपल लिए. पूरे परिवार को क्वारंटाइन कर दिया गया है. डागा हाउस के आसपास के क्षेत्र को सील कर दिया गया है. कंटेनमेंट क्षेत्र के बाहर पुलिस तैनात की गई है.

21 अप्रैल को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने डागा हाउस में पूर्व विधायक डागा से मिले थे. जहां पर उन्होने गरीबों के लिए बनाई जा रही रसोई का शुभारंभ किया था. सिंह की डागा से काफी समय बातचीत हुई. वे 29 अप्रैल को भी रसोई का निरीक्षण करने आए थे. तब भी डागा से बात हुई थी. कांग्रेस नेता गोविंद गोयल, सिंह के निज सचिव सचिन वत्स, देवेंद्र सिंह राठौर, हुजूर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी रहे नरेश ज्ञानचंदानी एवं सुधीर दुखंडे सहित अनेक कांग्रेस नेता डागा के संपर्क में रहे.

जबलपुर में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी, 41 दिन के शिशु समेत 12 नए केस आए सामने

साल के 365 दिन 'लॉकडाउन' में रहता है पश्चिम बंगाल का ये गाँव, बांग्लादेशी अपराधी मचाते हैं आतंक

यूपी में आंधी-तूफ़ान ने बरपाया कहर, 46 लोगों की मौत, सीएम योगी ने किया मुआवजे का ऐलान

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -