'2500 वर्ष पूर्व भी देश में कायम था लोकतंत्र, आज भी है..', PM ने बताया कैसा था प्राचीन भारत

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (10 दिसंबर 2021) को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe biden) द्वारा आयोजित किए गए ‘लोकतंत्र के लिए शिखर सम्मेलन’ में हिस्सा लेते हुए कहा कि भारत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लोकतांत्रिक मूल्यों को सशक्त करने के लिए भागीदारों के साथ काम करने के लिए तैयार है। पीएम मोदी ने कहा कि लोकतंत्र की भावना हमारी सभ्यता का अभिन्न हिस्सा रहा है और भारत में लोकतंत्र रहा है और आगे भी रहेगा।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने समिट फॉर डेमोक्रेसी (Summit for democracy) के मंच से विश्व को भारत में लोकतंत्र की प्राचीनता से अवगत भी कराया। उन्होंने बताया कि 2,500 वर्ष पूर्व भारत, लिच्छवि और शाक्य वंश (Licchavi and shakya dynasty) के दौरान भी विकसित अवस्था में था। इसी प्रकार की लोकतांत्रिक व्यवस्था प्राचीन भारत में 10वीं सदी के दौरान उत्तिरमेरु शिलालेख में भी देखने को मिलती है। भारत की ये प्राचीन लोकतांत्रिक व्यवस्थाएँ सर्वाधिक संपन्न सभ्यताओं में शामिल थीं। पीएम मोदी ने कहा कि भारत की प्राचीन लोकतांत्रिक व्यवस्था को सदियों का औपनिवेशिक शासन डिगा नहीं पाया।

आज़ादी के बाद लोकतांत्रिक अभिव्यक्ति, देश को पुनः मिली और भारत ने लोकतांत्रिक राष्ट्र के निर्माण में बीते 75 वर्षों से अद्वितीय कहानी सामने रखी। उन्होंने इसे तमाम क्षेत्रों में सामाजिक-आर्थिक समावेश की कहानी बताया और कहा कि भारतीय लोकतंत्र स्वास्थ्य, शिक्षा और मानव जीवन में लगातार सुधार की कहानी है, जिसकी कल्पना कर पाना कठिन है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने विश्व को स्पष्ट संदेश दिया है कि लोकतंत्र दे सकता है, लोकतंत्र ने दिया है और लोकतंत्र ने देना जारी रखा हुआ है।

पीएम मोदी ने ये भी कहा कि देश में बहुदलीय चुनाव, स्वतंत्र न्यायपालिका और फ्री मीडिया के ढाँचे लोकतंत्र के अहम उपकरण हैं। लोकतंत्र की मूल भावना और शक्ति हमारे नागरिकों और समाज में समाया हुआ है। बता दें कि इस सम्मेलन में शामिल होने के लिए अमेरिका की द्वारा पूरी दुनिया के 110 देशों को आमंत्रित किया गया था। इसमें पाकिस्तान भी शामिल था। किन्तु बाद में पाकिस्तान खुद ही इससे अलग हो गया था। हालाँकि, चीन और रूस को इस सम्मलेन में शामिल होने का निमंत्रण ही नहीं दिया गया था।

Punjab Assembly Elections: अरविंद केजरीवाल के निशाने पर चरणजीत सिंह चन्नी

चीन के आक्रमण पर कांग्रेस ने लोकसभा में स्थगन नोटिस दिया

संसद का शीतकालीन सत्र : भाजपा की बैठक जारी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -