सांसदों ने नहीं दिखाई रुचि, सरकार ने वापस ली सांसदो को दी गई बसें

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार ने सांसदों से भी ऑड-इवन नियम का पालन करवाने के लिए डीटीसी बसों की विशेष सेवा मुहैया कराई थी, लेकिन सांसदों द्वारा मिली ठंडी प्रतिक्रिया के बाद केजरीवाल सरकार ने इन बसों को वापस ले लिया है। सरकार ने 6 वातानूकुलित बसें चलाने की घोषणा की थी। दिल्ली सरकार द्वारा चलाई जाने वाली एमपी स्पेशल बस सेवा के पहले दिन मात्र 4-5 सांसदों ने ही इसका लाभ उठाया, जिसे सरकार खफा हो गई और ज्यादातर बसों को वापस ले लिया।

इन बसों को सुबह 9 बजे से 11 बजे तक और शाम में 5.30 बजे से 8 बजे तक चलाई जानी थी। दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा कि आज के अनुभव को देखते हुए और संसद के दोनों सदनों के संबद्ध अधिकारियों के साथ परामर्श के बाद यह निर्णय किया गया है कि दो बसें बनी रहेंगी और बाकी चार बसें कल से वापस ली जाएंगी।

सरकार ने यह भी साफ किया कि यदि किसी भा सांसद ने जानबूझकर नियम तोड़ा या नियम का अनुपालन नहीं किया गया, तो उन्हें नहीं बख्शा जाएगा। इसके एक दिन पहले राय ने उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी से मुलाकात की और सांसद कैसे सदन पहुंचे, इस बात पर चर्चा की।

राय ने कहा कि इस योजना के समापन में महज पांच दिन ही शेष है और तब तक यदि इस अधिसूचना में कोई बदलाव प्रभानी होता है, तो यह योजना स्वतः ही समाप्त हो जाएगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -