दिल्ली: नेत्रहीन व्यक्ति की पत्थर मारकर हत्या.., नेत्रहीन महिला के साथ बदसलूकी का कर रहे थे विरोध

नई दिल्ली: दिल्ली के सुल्तानपुरी में एक नेत्रहीन शख्स की हत्या का मामला सामने आया है। यह घटना बुधवार (6 अक्टूबर) की है। उस नेत्रहीन शख्स की गलती बस इतनी थी कि उन्होंने एक महिला के साथ हो रही हिंसा की खिलाफत में आवाज़ उठाई, जिसके बाद उनकी जान ले ली गई। आरोपित अभी फरार बताए जा रहे हैं। चश्मदीद की गवाही के बाद दिल्ली पुलिस उसे तलाशने का प्रयास कर रही है।

40 साल के राधेश्याम यूपी के कुशीनगर के रहने वाले थे और नेत्रहीन थे। वह बहुत साल से सुल्तानपुरी बस टर्मिनल पर पान बीड़ी बेचते थे। रात में वे सोते भी वहीं थे। इसी टर्मिनल पर उनके जैसी एक अन्य नेत्रहीन महिला भी रहती थी, जो 6 अक्टूबर को उनकी गुमटी के ही पास थी। इस दौरान एक शख्स आया और महिला के साथ बदसलूकी करने लगा। राधेश्याम ने इसका विरोध किया और शख्स को डांटते हुए उसे आपत्तिजनक बातें न कहने के लिए कहा है। इतने में ही युवक ने एक पत्थर उठाकर इतनी ज़ोर से मारा कि राधेश्याम वहीं गिरकर बेहोश हो गए। पास में दूसरी गुमटी चलाने वाले दिलीप कुमार ने पुलिस को घटना की सूचना दी और PCR वैन ने राधेश्याम को संजय गाँधी अस्पताल में एडमिट करवाया।

यहाँ उपचार के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर आरोपित के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। CCTV कैमरे खंगाले जा रहे हैं ताकि आरोपित को गिरफ्तार किया जा सके। अब तक की CCTV जाँच में सामने आया है कि आरोपित नेत्रहीन शख्स को मार कर भाग रहा है। उसका चेहरा साफ़ नहीं दिख रहा है। इसलिए पुलिस स्केच तैयार करके उसे पकड़ने में लगी है। कुछ रिपोर्ट ये भी बता रही है कि महिला जिससे बदसलूकी की गई, वो फुटपाथ पर लेटी हुई थी और वहीं मौजूद एक आदमी ने उस पर 20 रुपए चोरी का आरोप लगाया। महिला ने इंकार किया और विवाद शुरू हो गया। राधेश्याम दुकान से बाहर निकलकर दोनों को समझाने लगे। मगर इसी बीच आरोपित ने उन्हें पत्थर मार दिया और उनके बेहोश होते ही वहाँ से भाग निकला।

पाकिस्तानी आतंकियों को गुप्त सूचनाएं देने वाला यूपी का मोहम्मद मुस्ताक गिरफ्तार

MP: रातभर रोती रही मासूम, फंदे पर लटका रहा पिता का शव

महाराष्ट्र: ऐसा हुआ झगड़ा कि पत्नी ने ले ली पति की जान

 

Most Popular

- Sponsored Advert -