इस तरीके से कोरोना का मरीज 50,000 से भी ज्यादा लोगों कर सकता है संक्रमित

इस तरीके से कोरोना का मरीज 50,000 से भी ज्यादा लोगों कर सकता है संक्रमित

कोरोना वायरस के संक्रमण से विश्व के कई देशों में दहशत बनी हुई है. चीन के वुहान शहर से शुरू हुए इस वायरस ने धीरे धीरे भारत में भी पैर पसार लिए है. इस वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए भारत सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया है. फिलहाल लोगों से दूरी बनाकर रहना ही इस वायरस से बचने का एकमात्र उपाय है. क्योंकि इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति न जाने कितने लोगों को संक्रमित कर सकता है. विशेषज्ञों की माने तो कोरोना से संक्रमित पीड़ित 50,000 से भी ज्यादा लोगों को संक्रमित कर सकता है.

लंदन के इंटेंसिव केयर मेडिसिन के प्रोफेसर डॉ. ह्यू मॉन्टगोमरी के अनुसार कोरोना वायरस सबसे अधिक संक्रमित होने वाला वायरस है. इस वायरस से संक्रमित होने वाला व्यक्ति से हजारों लोगों को ये वायरस चपेट में ले सकता है. इससे बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र तरीका है. डॉ. ह्यू के अनुसार सामान्य फ्लू होने पर औसतन 1.3 से 1.4 लोग संक्रमित होते हैं. यह संक्रमित व्यक्ति भी आगे लोगों को संक्रमित करते हैं और यह चक्र आगे 10 बार तक चलता है. इस प्रकार से संक्रमित व्यक्ति 14 लोगों को चपेट में ले लेते हैं. कोरोना वायरस इससे कहीं ज्यादा खतरनाक है, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती है.

डॉ. ह्यू ने कहा कि कोरोना का संक्रमण एक से तीन को हो सकता है और यह आगे 10 के लेयर में भी बढ़ते हैं तो तकरीबन 59,000 लोग संक्रमित हो सकते हैं. हालांकि संक्रमित होने वाले लोगों में से कुछ लोग ही बीमार पड़ेंगे और बहुत कम लोगों को आईसीयू में रखने की जरूरत पड़ सकती है.

गुजरात में 'कोरोना' से तीसरी मौत, देशभर में मरने वालों की संख्या हुई 14

इन प्रजाति के कौवों का नाम कोरोना से है मिलता जुलता, जो की होते है बहुत तेज

गुजरात : राज्य में संक्रमण का आंकड़ा 38 तक पहुंच, इतने लोग हुए होम क्‍वॉरोन्‍टाइन