ब्राज़ील में कोरोना वायरस का टूटा कहर, हर दिन बढ़ रहे नए मामले

ब्रासीलिया: पिछले कई दिनों से लगातार बढ़ती जा रही कोरोना वायरस की समस्या से आज के समय में हर कोई परेशान है वहीं इस वायरस के बढ़ते प्रकोप और महामारी की चपेट में आने से आज न जाने ऐसे कितने लोग है जिनकी जाने जा चुकी है, इतना ही नहीं इस वायरस की चपेट में आने कर रोज लाखों की तादाद में लोग संक्रमित हो रहे है, वहीं कोरोना वायरस से दुनियाभर में मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है जिसके कारण आज पूरा मानवीय पहलू तबाही की छोर  पर आ खड़ा हुआ है. वहीं दुनिया में शायद ही कोई ऐसा देश बचा हो, जहां कोरोना के मामले सामने न आए हो. कोरोना वायरस की शुरुआत में चीन के बाहर सबसे पहले, ईरान एक हॉटस्पॉट के रूप में उभरा, इसके बाद इटली और फिर अमेरिका. 

जानकारी के अनुसार अब इस महामारी के नए हॉटस्पॉट के रूप में लातिनी अमेरिकी देश ब्राजील उभर रहा है. यहां हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. अर्थव्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है और हर रोज संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है. जंहा ब्राजील के सबसे बड़े शहर और एक करोड़ 22 लाख आबादी वाले साउ पाउलो शहर में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमराने लगी है. शहर के मेयर ब्रूनो कोवास ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 के कारण अस्पतालों में इमरजेंसी बेड की मांग में इजाफा हुआ है, जिससे देश के स्वास्थ्य व्यवस्था के चरमराने का खतरा पैदा हो गया है. 

वहीं यह भी कहा जा रहा है कि कोरोना से ब्राजील के बुरे हालातों को इस तरह पता लगाया जा सकता है कि देश के सभी सरकारी अस्पताल क्षमता के हिसाब से 90 फीसदी तक भर चुके हैं. स्थिति ने इतना विकराल रूप धारण कर लिया है कि यहां हर रोज सात हजार नए मामले सामने आ रहे हैं.  इस लातिनी अमेरिकी देश में अब तक 2.5 लाख लोग इस खतरनाक बीमारी की चपेट में आ चुके हैं. संक्रमितों की संख्या के मामले में ब्राजील दुनिया में चौथे स्थान पर है. वहीं, कोविड-19 से ब्राजील में 16 हजार से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई है. 

दुनियाभर में घिरे चीन ने पेश की सफाई, बोला- हमने कोरोना को लेकर कुछ नहीं छिपाया

तालिबान को अफ़ग़ानिस्तान का करारा जवाब, कहा- भारत हमारे लिए सबसे बड़ा दानदाता

वैज्ञानिक करोल स‍िकोरा का दावा- वैक्सीन बनने से पहले ही मर जाएगा कोरोना !

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -