नववर्ष पर कोरोना मामले में हुआ तेज उछाल, केजरीवाल बोले- 'चिंता की बात नहीं...'

नई दिल्ली: दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली में कोरोना रफ़्तार से बढ़ रहा है. कोरोना के केस प्रतिदिन छलांग मार रहे हैं. मगर चिंता तथा पैनिक की कोई बात नहीं है. दिल्ली में 29 दिसंबर को कोरोना के 923 मामले दर्ज हुए थे. तत्पश्चात, 30 दिसंबर को 1313 मामले, 31 दिसंबर को 1796 मामले आए. मगर नववर्ष आरम्भ होते ही अचानक आँकड़े में बड़ा उछाल देखने को मिला.

वही 1 जनवरी को दिल्ली में 2796 मामले आए, जबकि 2 जनवरी मतलब आज की रिपोर्ट में 3100 मामले बताए जा रहे हैं. मतलब वर्ष के अंतिम दिन जो मामले दो हजार से भी नीचे थे, उनका आँकड़ा अब तीन हजार से ऊपर पहुंच गया है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 6360 सक्रीय मामले हैं. 3 दिन पहले 2291 सक्रीय मामले थे. तीन दिन में तीन गुना सक्रीय मामले बढ़ गए हैं.

उन्होंने आगे कहा कि मगर 29 दिसंबर को कुल 262 बेड्स पर कोरोना रोगी एडमिट थे तथा 1 जनवरी को 247 बेड्स पर ही कोरोना मरीज एडमिट हैं. इसका अर्थ हुआ कि जो लोग कोरोना से बीमार हो रहे हैं उन व्यक्तियों को हॉस्पिटल जाने की आवश्यकता नहीं पड़ रही है. सभी माइल्ड लक्षण से ग्रसित हैं. केजरीवाल ने बताया कि आज प्राणवायु के सिर्फ 82 बेड्स पर मरीज एडमिट हैं. ये संख्या बीते कई दिनों से इतना ही है. ऐसा कोई मरीज नहीं आ रहा जिसे ऑक्सीजन की आवश्यकता हो. जबकि आज 37 हजार कोरोना बेड्स की तैयारी है. उन्होंने बताया कि 0.22% बेड्स भरे हैं 99.78% बेड्स रिक्त हैं. अप्रैल में जब लहर आई थी तब आज के मुकाबले क्या हाल था.  27 मार्च दिल्ली में सक्रीय मामले 6600 थे. उस के चलते ऑक्सीजन के साढ़े 1100 बेड्स भरे हुए थे आज 83 बेड्स पर ही मरीज़ हैं.

दर्दनाक हादसा: बूंदी में ट्रैक्टर ट्रॉली में हुई भयानक टक्कर, कई मजदूर हुए घायल

जम्मू कश्मीर में महसूस हुए जोरदार भूकंप के झटके

राजस्थान में कम नहीं हो रहा कोरोना के नए वेरिएंट का कहर, सामने आए इतने केस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -