55 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों को मिली कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज, इतने लोगों की जा चुकी है जान

Feb 26 2021 01:51 PM
55 फीसदी स्वास्थ्य कर्मियों को मिली कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज, इतने लोगों की जा चुकी है जान

नई दिल्ली: 18.5 लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मी, जिन्हें कोरोना टीकाकरण अभियान आरम्भ होने के पश्चात् से टीकों की पहली खुराक प्राप्त हुई थी, उन्हें दूसरी और अंतिम खुराक के तौर पर टीका लगाया गया है, जबकि 2,44,511 ने दूसरा शॉट प्राप्त किया। बृहस्पतिवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह खबर दी। अब तक, दूसरी खुराक टीकाकरण में उन स्वास्थ्य कर्मचारियों के 55.23 प्रतिशत सम्मिलित हैं, जो मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, टीके की अपनी दूसरी खुराक प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।

25 फरवरी तक दूसरी खुराक के साथ कुल 18,60,859 स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाया गया है। इस मध्य, शाम 6 बजे तक स्वास्थ्य सेवा तथा फ्रंटलाइन कर्मचारियों को 12,988 सत्रों के जरिये 3,95,884 वैक्सीन खुराक दी गई। मंत्रालय की ओर से साझा आखिरी रिपोर्ट के मुताबिक, बृहस्पतिवार को राष्ट्रव्यापी कोरोना टीकाकरण का 41वां दिन रहा। इसमें से 98,382 लाभार्थियों को प्रथम खुराक के लिए टीका लगाया गया था तथा 63,458 टीकों की दूसरी खुराक प्राप्त हुई थी। वही इस बीच पुरे भारत में वैक्सीन खुराक का आंकड़ा 1,30,67,047 तक पहुंच गया है। 

मंत्रालय ने कहा, “इनमें 65,82,007 सम्मिलित हैं, जिन्होंने 46,24,181 फ्रंटलाइन कर्मचारियों तथा 18,60,859 व्यक्तियों ने पहली खुराक ली है, जिन्होंने दूसरी खुराक ली है।” टीकाकरण के पश्चात् घटना के पांच केस (एएफएफआई) 1 खुराक टीकाकरण से संबंधित और 2 खुराक से जुड़े 3 केस सामने आए हैं। सात प्रदेशों तथा केंद्रशासित प्रदेशों ने पंजीकृत पहली हेल्थकेयर के 80 प्रतिशत से ज्यादा टीकाकारों को पहली खुराक दी है। ये बिहार, ओडिशा, त्रिपुरा, झारखंड, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तराखंड तथा अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह हैं। मंत्रालय ने यह भी बताया कि टीका लाभार्थियों में अब तक 45 मौतें दर्ज की गई हैं हॉस्पिटल में 23 मौतें तथा 22 बाहर, जबकि 51 अब तक हॉस्पिटल में एडमिट हैं, जिनमें से 26 को उपचार के पश्चात् डिस्चार्ज कर दिया गया है, दो का उपचार चल रहा है, तथा 23 लोग दम तोड़ चुके हैं।

सड़क किनारे खड़े रोड रोलर में जा घुसी तेज रफ़्तार बस, 12 यात्री घायल

99 साल में दूसरी बार दो दिन में टेस्ट मैच हारा इंग्लैंड, जानिए अब तक कितनी बार हुआ ऐसा

सिद्धिविनायक मंदिर: 1 मार्च को मंदिर में दर्शन के लिए जरुरी हुआ क्यूआर कोड