आम जनता को मिला नववर्ष का बड़ा तोहफा, इन चीजों के दामों में आई गिरावट

नववर्ष पर आम जान को महंगाई से राहत का बड़ा तोहफा प्राप्त होने जा रहा है. भारत में खाद्य तेल का उत्पादन करने वाली कई कंपनियों ने इनकी कीमतों में कमी करने का ऐलान किया है. इससे लोगों के मंथली बजट में बहुत फर्क पड़ेगा.

इन ब्रांड के दाम हुए कम:-
अडानी विल्मर ने फॉर्च्यून ब्रांड के तेलों के दाम घटाए है. बाबा रामदेव की कंपनी रुचि सोया ने महाकोश, सनरिच, रुचि गोल्ड तथा न्यूट्रेला ब्रांड के तेलों के दाम कम किए हैं. इसके अतिरिक्त इमामी ने हेल्दी एंड टेस्टी ब्रांड पर, बंज ने डालडा, गगन, चंबल ब्रांड पर तथा जेमिनी ने फ्रीडम सूरजमुखी तेल ब्रांड पर दाम कम किए हैं.

वही पिछले वर्ष सरकार ने कई बार रिफाइंड तथा कच्चे दोनों तरह के खाद्य तेलों पर आयात शुल्क कम किया है. इससे इनके आयात की लागत कम हुई है. सरकार ने 20 दिसंबर को खाद्य तेलों पर आयात शुल्क 17.5 प्रतिशत से कम करके 12.5 प्रतिशत कर दिया है. यह  मार्च 2022 तक लागू रहेगा. वही तेल की खपत को देखते हुए सरकार ने कारोबारियों को दिसंबर 2022 तक बिना लाइसेंस रिफाइंड तेल आयात करने की मंजूरी दी हुई है. कुछ दिन पहले केंद्रीय खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने खाद्य तेल कंपनियों के साथ मीटिंग की थी. बैठक के पश्चात् सुधांशु पांडे ने कहा था कि तेल के दाम बहुत अधिक है तथा इसमें कमी होनी चाहिए, क्योंकि इंपोर्ट ड्यूटी में कमी की गई. तत्पश्चात, कंपनियों ने तेल के दाम कम किए हैं.

साल के अंतिम दिन GST काउंसिल की बड़ी बैठक, लोगों को बढ़े हुए टैक्स से मिल सकती है राहत

केरल के काजू उद्योग के लिए घोषित 500 करोड़ रुपये की एकमुश्त निपटान राशि

केरल राज्य सुशासन सूचकांक में भारत में पांचवें स्थान पर है

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -