बंगाल में लेफ्ट के साथ जाती दिख रही कांग्रेस, क्या मिलकर 'दीदी' के खिलाफ खोलेंगे मोर्चा ?

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव के चलते कांग्रेस और सीपीआईएम लेफ्ट फ्रंट साथ आते दिखाई दे रहे हैं। पश्चिम बंगाल में दोनों ही पार्टियां एक साथ मिलकर चुनाव में उतर सकती हैं। माना जा रहा है कि लेफ्ट यहां कि तमाम 42 सीटों पर चुनाव ना लड़े इसका कारन यह है कि, वह चाहता है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और टीएमसी विरोधी वोटों को अधिक से अधिक हासिल किया जाए। 

आंध्र प्रदेश: पीएम की रैली से पहले ही शुरू हुआ विरोध, पोस्टर में लिखा 'मोदी नेवर अगेन'

पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और सीपीएम के नेता इस बात को सुनिश्चित करने में लगे हुए हैं कि, दोनों ही दलों के मध्य गठबंधन हो जाए। यही नहीं कांग्रेस आला कमान इस बात की भी आशा कर रहा है कि टीएमसी के साथ भी उसकी दाल गल जाए। वहीं केरल में सीपीएम कांग्रेस के खिलाफ सीधी टक्कर के लिए चुनावी मैदान में है। सूत्रों की मानें तो टीएमसी कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के मूड में नहीं है। किन्तु शुक्रवार और शनिवार को सीपीएम के नेताओं के बीच बैठक हुई टी ही। वहीं राहुल गांधी ने भी पीसीसी अध्यक्ष और कांग्रेस के नेताओं के साथ बैठक की थी। 

इथोपिया का सैन्य हेलीकाप्टर हुआ दुर्घटनाग्रस्त, 3 की मौत 10 घायल

इन बैठकों के बाद पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने बताया है कि कांग्रेस, लेफ्ट के साथ गठबंधन करने की इच्छा रखती है, हालांकि पार्टी अपने स्वाभिमान के साथ कोई समझौता नहीं करेगी। कांग्रेस और सीपीएम के बीच दूरी कम होती इसलिए भी दिखाई दे रही है क्योंकि केरल सीपीएम के नेताओं ने भी कांग्रेस के खिलाफ अपने तेवर में कमी लाएं हैं।

खबरें और भी:-

ऐसा क्या बोल गए अमोल पालेकर, कि बीच में ही रोकना पड़ा भाषण

इमरान खान को भारत के विदेश मंत्रालय का करारा जवाब, कहा अपने गिरेबान में झांको

पूर्वोत्तर से एक सहयोगी ने दी एनडीए छोड़ने की धमकी, हाथ से फिसल सकते हैं ये राज्य

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -