महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: कांग्रेस-NCP ने फिर उलझा पेंच, सीट शेयरिंग को लेकर खींचतान

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: कांग्रेस-NCP ने फिर उलझा पेंच, सीट शेयरिंग को लेकर खींचतान

मुंबई:  महाराष्ट्र में कांग्रेस और उसकी सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने भले ही 125-125 विधानसभा सीटों पर प्रत्याशी उतारने सहमति बन गई है, किन्तु शरद पवार की पार्टी NCP की राज्य के सभी 36 जिलों में प्रतिनिधित्व की मांग से दोनों पार्टियों के बीच सीटों के विभाजन को लेकर नया पेंच फंस गया है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि जल्द ही इस बारे में निर्णय कर लिया जाएगा कि दोनों पार्टियों एवं छोटे सहयोगी दलों में से किसके खाते में कौन-कौन सी सीटें जाएंगी।

दोनों पार्टियों की राज्य इकाई के नेता अपने और छोटी पार्टियों के हिस्से की सीटें तय करने के लिए ताबड़तोड़ बैठकें कर रहे हैं। प्रदेश की सभी 288 सीटों के लिए 21 अक्टूबर को वोटिंग और 24 अक्टूबर को मतगणना है। कांग्रेस की महाराष्ट्र यूनिट के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की ओर से प्रत्येक जिले में कम से कम एक या दो सीट की मांग रखी गई है। यह हमारे लिए थोड़ा व्यवहारिक नहीं है क्योंकि प्रदेश में कई इलाके हैं जहां उसका कुछ खास प्रभाव नहीं है।

उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियों में निरंतर वार्ता चल रही है। कुछ दिनों के अंदर ही हम अपने हिस्से और छोटे दलों के लिए सीटों को फाइनल कर लेंगे। कांग्रेस के एक अन्य नेता ने बताया कि एनसीपी विदर्भ में कई सीटों की मांग कर रही है, जबकि इस इलाके में उसका कुछ खास प्रभाव नहीं रहा है। इसी तरह NCP ने मुंबई की 36 सीटों में से 12 सीटों की मांग कर दी है, जबकि 2009 में गठबंधन में रहते हुए वह केवल सात सीटों पर चुनाव लड़ी थी।

हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए 'आप' ने जारी की 22 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

मुंबई में अमित शाह का चुनावी शंखनाद, कहा- महाराष्ट्र और हरियाणा में NDA की सरकार बनना तय

आज महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का शंखनाद करेंगे अमित शाह, मुंबई में करेंगे रैली