अंतागढ़ टेपकांड: भाजपा पर हमलावर हुई कांग्रेस, कहा- रमन सिंह, अजित जोगी छोड़ दें सियासत

अंतागढ़ टेपकांड: भाजपा पर हमलावर हुई कांग्रेस, कहा- रमन सिंह, अजित जोगी छोड़ दें सियासत

रायपुर: अंतागढ़ टेपकांड प्रकरण में मंतूराम पवार के अपने बयान से पलटने और खरीद-फरोख्त की बात क़ुबूल करने के बाद अब कांग्रेस भाजपा पर हमलावर हो गई है. कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी का कहना है कि 'रमन सिंह, अजित जोगी, राजेश मूणत और अमित जोगी ने नैतिकता भंग की है, इन चारों के कारण लोकतंत्र की हत्या हुई है. वे इसकी नैतिक जिम्मेदारी अपने ऊपर लें और सियासत छोड़ दें. इन्हें राजनीति में रहने का कोई अधिकार नहीं है. अगर ये निर्दोष हैं तो जांच में सहयोग करें.'

पवार ने आगे कहा कि, ''यदि रमन सिंह इतने निर्दोष हैं तो अपने दामाद पुनीत गुप्ता से कहें कि वे अपनी आवाज़ का नमूना दें, अमित जोगी और अजित जोगी के वॉईस सैंपल की भी SIT जांच होनी चाहिए. 7 करोड़ रुपए राजेश मूणत के पास कहाँ से आए, इसकी भी जांच होनी चाहिए. मंतूराम पवार के बयान के आधार पर दोषी अधिकारियों की भूमिका की जांच की जानी चाहिए, यह प्रकरण 7 करोड़ के लेन देन हुआ है, इसलिये इसकी जांच ईडी और आईटी विभाग को सौंपी जानी चाहिए.''

आपको बता दें कि आदिवासी नेता मंतूराम पवार ने स्थानीय न्यायालय में धारा 164 के तहत अपना बयान दर्ज कराते हुए पूर्व सीएम रमन सिंह, छत्तीसगढ़ भाजपा के दिग्गज नेता राजेश मूणत और अजित जोगी पर संगीन आरोप लगाए हैं. जिसमें पवार ने उक्त नेताओं पर दबाव बनाने और 7 करोड़ देकर अंतागढ़ उपचुनाव से नाम वापस लेने की बात कही है.

नार्थ ईस्ट की जनता से बोले अमित शाह, कहा- '371 को नहीं छेड़ा जाएगा'

क्या सचमुच धूम्रपान छोड़ने में मदद करती है ई-सिगरेट, जानिए क्या कहता है WHO

अमेरिका में PHD की पढ़ाई कर रहे बांग्लादेशी छात्र को मारी गोली, मौत