इस दिन पहली बार पता चला की इंसानों में फैल रहा है कोरोना

कोरोना वायरस फैलाने के आरोप का सामना चीन कर रहा है. वही, चीन ने रविवार को महामारी से जुड़ा एक श्वेतपत्र जारी किया. इसमें कहा गया है कि पहली बार 27 दिसंबर को वायरल निमोनिया के तौर पर वायरस के बारे में पता चला था. जबकि इंसानों से इंसानों में संक्रमण का पता 19 जनवरी को चला. इसके बाद इसे रोकने के लिए तत्परता से कदम उठाए गए. जो श्वेतपत्र जारी किया गया है उसमें पिछले साल वुहान में कोरोना के प्रकोप को लेकर बीजिंग द्वारा देरी से उठाए गए कदमों के आरोपों का खंडन करते हुए एक लंबा स्पष्टीकरण दिया गया है.

WHO ने कोरोना को लेकर फिर दिए नए दिशानिर्देश, मास्क को लेकर कही जरुरी बात

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि श्वेतपत्र में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना, विशेषकर राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा महामारी को रोकने के लिए उठाए गए कदमों की प्रशंसा की गई है. चीन ने यह श्वेतपत्र मीडिया में आई उन खबरों के बाद जारी किया है, जिसमें कहा गया था कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भले ही चीन की प्रशंसा की हो, लेकिन वायरस के बारे में जानकारी देने में हीलाहवाली से संगठन के अधिकारी भी नाराज थे. बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और कई देशों के नेताओं ने चीन पर बीमारी के बारे पारदर्शिता नहीं बरतने का आरोप लगाया है.

पाक के लिए मुसीबत बना इमरान का एक बयान, UNSC में बुरी तरह घिरा पाकिस्तान

इस मामले को लेकर श्वेत पत्र में दी गई जानकारी के अनुसार 27 दिसंबर को वुहान के एक अस्पताल में वायरस के बारे में पता चलने के बाद सरकार ने मरीजों की स्थिति का विश्लेषण करने के लिए विशेषज्ञों को बुलाया. जांच से यह पता चला कि ये सभी मरीज वायरल निमोनिया के थे. वहीं नेशनल हेल्थ कमीशन (एनएचसी) द्वारा गठित विशेषज्ञ टीम के शोधकर्ताओं ने कहा कि इस बात की पुष्टि 19 जनवरी को हुई कि वायरस का संक्रमण इंसानों के बीच हो रहा है. एनएचसी द्वारा वुहान में जनवरी के शुरू में भेजे गए विशेषज्ञों के समूह में शामिल चीन के श्वसन रोग विशेषज्ञ वांग गुआंगफा ने कहा कि जब विशेषज्ञ वुहान में उतरे तो वहां पर सिर्फ बुखार के रोगी थे. इतना ही नहीं हुनान के वेट मार्केट के वायरस फैलने का कोई सीधा संपर्क भी नहीं मिला. जबकि पहले यह माना जा रहा था कि यहां बिकने वाले चमगादड़ और पैंगोलिन से वायरस फैला.

पाक में एक लाख के करीब पहुंचे कोरोना केस, अब भी सख्त लॉकडाउन के पक्ष में नहीं इमरान

कोरोना संक्रमण ने कई स्टार्टअप्स को दी मजबूती

'आयुष्मान भारत' को WHO ने सराहा, भारत में कोरोना को लेकर कही ये बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -