पाक के लिए मुसीबत बना इमरान का एक बयान, UNSC में बुरी तरह घिरा पाकिस्तान

नई दिल्ली: पूरी दुनिया के आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह बन चुके पाकिस्तान को तगड़ा झटका लगा है। यह ऐसा झटका है कि पाकिस्तान और उसके पीएम इमरान खान को उनका पुराना दोस्त चीन भी नहीं बचा सकेगा। दरअसल संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में इमरान खान द्वारा दिया गया एक भाषण ही उनके गले की फांस बन गई है।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में आई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अफगानिस्तान में पाकिस्तान के 6500 आंतकवादी छिपे हुए हैं। इनमें आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के भी आतंकी हैं। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने हमेशा इस बात से इनकार किया है कि उसकी जमीन का उपयोग दूसरे देशों में आतंकवाद फैलाने के लिए होता है। किन्तु UNSC की तरफ से पेश की गई एक रिपोर्ट में पाकिस्तान द्वारा अफगानिस्तान में हजारों आतंकवादी भेजे जाने को लेकर उल्लेख किया गया है।

पाक पीएम इमरान खान ने सार्वजनिक रुप से यह कबूल किया था। यूनाइटेड नेशंस की रिपोर्ट में कहा गया है कि अफगानिस्तान में सक्रिय विदेशी आतंकवादियों में 6,500 पाकिस्तानी नागरिक हैं। यूनाइटेड नेशंस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में मौजूद आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा विस्फोटक बनाने में सक्षम और ट्रेंड लड़ाके अफगानिस्तान पहुंचा रहे हैं। ताकि वहां चल रही शांति प्रक्रिया में बाधा डाली जा सके। भारतीय विदेश मंत्रालय ने इसी रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यूनाइटेड नेशंस की यह रिपोर्ट भारत के इस दावे को पुख्ता करती है कि पाकिस्तान वैश्विक आतंकवाद का गढ़ है।

WHO ने कोरोना को लेकर फिर दिए नए दिशानिर्देश, मास्क को लेकर कही जरुरी बात

ब्राज़ील ने चली बड़ी चाल, वेबसाइट से हटाया कोरोना के आंकड़ों का नामों निशान

कतर में फीफा विश्व कप 2022 के लिए तैयार हुआ तीसरा बैनर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -