कोरोना के नए वेरिएंट ने मचाई खलबली, सख्ती बरतने के निर्देश जारी

कोरोना संक्रमण का कहर अब कम होने लगा है लेकिन इस बीच कोरोना के एक नए वेरिएंट ने चिंता बढ़ा दी है। जी दरअसल यह नया वेरिएंट दक्षिण अफ्रीका में मिला है। मिली जानकारी के तहत हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को बोत्सवाना, दक्षिण अफ्रीका और हांगकांग से आने-जाने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कठोर स्क्रीनिंग और टेस्टिंग शुरू करने का निर्देश दिया है। आपको बता दें कि इन देशों में नए कोरोनोवायरस वेरिएंट 8.1.1529 के कई मामले सामने आए हैं और ऐसा होने के चलते यहाँ सख्ती बरतने के लिए कहा गया है।

कहा जा रहा है यहाँ कोरोना के काफी म्यूटेंट होने जानकारी मिली है। हाल ही में नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC) ने इसकी वैश्विक उपस्थिति की बात करते हुए इसे वेरिएंट ऑफ कंसर्न कहा है और इसी के साथ ही यह भी कहा है कि भारत को सख्त निगरानी रखने की जरूरत है। वहीं NCDC का कहना है बोत्सवाना (3 मामले), दक्षिण अफ्रीका (6 मामले) और हांगकांग (1 मामले) में सीओवीआईडी ​​​​-19 वेरिएंट 8.1.1529 के मामले दर्ज किए गए हैं। कहा जा रहा है इस वेरिएंट के काफी म्यूटेंट होने की आशंका भी जाहिर की गई है।

वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सचिव राजेश भूषण ने कहा है कि, 'हाल ही में वीजा प्रतिबंधों में छूट और अंतरराष्ट्रीय यात्रा शुरू करने को ध्यान में रखते हुए इसका देश के सार्वजनिक स्वास्थ्य पर गंभीर असर पड़ सकता है।' वहीं इस पत्र के अनुसार भारत में जीनोम सीक्वेसिंग SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) और NCDC के जरिए देश में की जा रही है, जो INSACOG की नोडल एजेंसी है। वहीं इसका उद्देश्य कोविड 19 के ‘वेरिएंट ऑफ कंसर्न’ के ट्रांसमीशन की ट्रैकिंग और मॉनिट्रिंग करना है।

इसी के साथ भूषण ने राज्यों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि पॉजिटिव पाए जाने वाले यात्रियों के सैंपल्स INSACOG की लैब्स में तुरंत भेजे जाएं।

2 साल 11 महीने 18 दिन में पूरा हुआ था संविधान, जानिए क्या है इसका इतिहास

कानपुर: पान खाते दर्शक का वीडियो वायरल, लगी मीम्स की झड़ी

अफगानिस्तान का निर्यात तीन महीने में 132 फीसदी बढ़ा: प्रवक्ता

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -