भोपाल का 'करोड़पति' क्लर्क, घर से मिले 2.17 करोड़ नकद और 8 किलो सोना

भोपाल: मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी भोपाल में भ्रष्टाचार के आरोप में FCI के एक क्लर्क के घर से CBI ने अब तक 2.17 करोड़ बरामद किए हैं. इसके साथ ही CBI को वहां से 8 किलो सोना भी मिला है. शुक्रवार रात को CBI की टीम ने क्लर्क के घर पर छापेमारी की थी. रिकॉर्ड खंगालने पर अब तक 2.17 करोड़ रुपये का खुलासा हो चुका है. CBI ने ये कार्रवाई रिश्वत के मामले में की है. एंटी करप्शन स्क्वायड ने रिश्वत के मामले में डिविजनल मैनेजर सहित चार लोगों को रंगे हाथों दबोचा था

छोला इलाके में क्लर्क किशोर मीरा मीणा के आवास पर CBI की कार्यवाही अब भी जारी है. इसके साथ ही CBI को भ्रष्टाचार के कई साक्ष्य भी उसके घर से मिले हैं. बताया जा रहा है कि अरेस्ट किए गए तीनों मैनेजर की रिश्वत के पैसे भी क्लर्क किशोर ही अपने पास ही रखता था. गुड़गांव की एक सिक्योरिटी एजेंसी द्वारा भ्रष्टाचार की शिकायत करने के बाद क्लर्क किशोर मीणा और मैनेजर सहित तीन लोगों को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया था. उसके बाद आगे की कार्रवाई शुरू की गई थी. जांच में खुलासा हुआ कि वह सभी के रिश्वत के पैसे अपने आवास पर ही रखता था. खबर के अनुसार किशोर मीणा इससे पहले FCI में सिक्योरिटी गार्ड के रूप में नौकरी करता था. बड़े अधिकारियों के साथ भ्रष्टाचार में शामिल होने के कारण उसे क्वर्क बना दिया गया था.

CBI की टीम ने किशोर मीणा के घर से 2.17 करोड़ रुपयों के साथ ही नोट गिनने की मशीन भी जब्त की है. इसके साथ ही 8 किलो सोना और चांदी भी बरामद किया है. FCI में रिश्वत लेने की शिकायत गुड़गांव की एक कंपनी ने भोपाल CBI से की थी. शिकायत में कहा गया था कि FCI का मैनेजर दूसरे कर्मचारियों के साथ मिलकर धड़ल्ले से घूस ले रहा है. खबर मिलने के बाद CBI ने जाल बिछाकर आरोपियों को एक मंदिर में बुलाया था. इसके बाद दो आरोपियों को रंगे हाथों रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया.

'10 करोड़ डेयरी किसानों को आजीविका कौन देगा ?', PETA के सुझावों पर भड़के 'अमूल' के MD

मुंबई में 100 रुपए पार पहुंचा पेट्रोल, डीजल के भाव भी ऐतिहासिक ऊंचाई पर

हवाई सफर अब हुआ महंगा, मोदी सरकार ने 16 फीसदी तक बढ़ाया न्यूनतम किराया !

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -