छोटी सी इलायची के काम है बड़े बड़े

छोटी इलायची का पौधा सदा हरा तथा पाँच फुट से 10 फुट तक ऊँचा होता है. इसके पत्ते बर्छे की आकृति के तथा दो फुट तक लंबे होते हैं. यह बीज और जड़ दोनों से उगता है. तीन चार वर्ष में फसल तैयार होती है तथा इतने ही काल तक इसमें गुच्छों के रूप में फल लगते हैं. सूखे फल बाजार में 'छोटी इलायची' के नाम से बिकते हैं. 

1-उल्टी-  बड़ी इलायची पाँच ग्राम लेकर आधा लीटर पानी में उबाल लें. जब पानी एक-चौथाई रह जाए, तो उतार लें. यह पानी पीने से उल्टियाँ बंद हो जाती हैं.

2-बदहजमी- यदि केले अधिक मात्रा में खा लिए हों, तो तत्काल एक इलायची खा लें. केले पच जाएँगे और आपको हल्कापन महसूस होगा.

3-छाले - मुँह में छाले हो जाने पर बड़ी इलायची को महीन पीसकर उसमें पिसी हुई मिश्री मिलाकर जबान पर रखें. तुरंत लाभ होगा.

4-खाँसी - सर्दी-खाँसी और छींक होने पर एक छोटी इलायची, एक टुकड़ा अदरक, लौंग तथा पाँच तुलसी के पत्ते एक साथ पान में रखकर खाएँ.

5-खराश - यदि आवाज बैठी हुई है या गले में खराश है, तो सुबह उठते समय और रात को सोते समय छोटी इलायची चबा-चबाकर खाएँ तथा गुनगुना पानी पीएँ.

रसोई से निकलती है अच्छी सेहत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -