अलगाववादियों से मिलने पहुंची सिन्हा की टीम

नई दिल्ली- इसे बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा का सौभाग्य कहें, या अलगाववादियों का विचार परिवर्तन, कि सिन्हा की अगुवाई में अलगाववादियों से मिलने पहुंची 6 सदस्यीय टीम अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारुख से मिलने में कामयाब रही. जबकि सर्वदलीय पार्टियों के एक प्रतिनिधिमंडल से अलगाववादियों ने मिलने से साफ़ मना कर दिया था. अब  ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि बगावत की बर्फ पिघलते ही घाटी में शांति की पुनर्स्थापना हो जाएगी.

गौरतलब है कि यशवंत सिन्हा की अगुवाई में 6 सदस्यों की टीम आज जम्मू-कश्मीर पहुंची है और वह अलगाववादी नेताओं से मिलकर घाटी में शांति बनाने को लेकर बातचीत करेगी. इस टीम ने सैयद अली शाह गिलानी से भी मुलाकात की है.इससे वार्ता की सफलता के संकेत मिलने लगे हैं.

अब तो सभी की यही गुजारिश है कि किसी भी तरह से घाटी के भटके हुओं को राह पर लाया जाए, ताकि घाटी में अमन कायम को सके.

भारत-पाक रिश्तों में खटास की वजह कश्मीर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -