भारत के बिना SDG का लक्ष्य नहीं हो सकता है पूरा : गेट्स

संयुक्त राष्ट्र के द्वारा हाल ही में विश्व से गरीबी, असमानताएं और साथ ही जलवायु परिवर्तन जैसे समस्याओं को लेकर 17 लक्ष्यों का निर्धारण किया गया है. साथ ही यह भी निर्धारित किया गया है कि इन लक्ष्यों को 15 सालो के अंदर ही हासिल भी किया जाना है. मामले में आपको यह भी बता दे कि इन सभी लक्ष्यों को धारणीय विकास लक्ष्य (SDG) का नाम दिया गया है. गौरतलब है कि साल 2000 के दौरान मिलेनियम डेवलपमेंट गोल्स (MDG) के अंतर्गत 8 लक्ष्यों को हासिल करने के लिए निर्धारित किया गया था.

अब आपको इस बारे में यह भी बता दे कि बिजनेसमैन बिल गेट्स के द्वारा इन दोनों ही लक्ष्यों SDG और MDG में हमेशा हिस्सा लिया गया गया है, इस दौरान यह भी कहा जाता है कि गरीबी के खिलाफ होने वाली दुनिया की लड़ाई में वे हमेशा आगे रहे है. उनके परोपकार के बारे में बात करे तो आपको बता दे कि करीब 2000 अरब रूपये वे ऐसे कामों पर पहले ही लगा चुके है या कहा जाये तो दान कर चुके है.

इसके साथ ही आपको यह भी बता दे कि बिल गेट्स के द्वारा फिल्ममेकर रिचार्ड कुर्तीस के ब्रेनचाइल्ड ग्लोबल गोल्स कैंपेन को भी समर्थन दिया गया है. बिल गेट्स ने इस दौरान यह भी कहा है कि अभी सभी की नजरे भारत पर टिकी हुई है. जो भूमिका अब तक SDG में चीन की रही है वही भूमिका अब भारत को निभाना है. एक उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह गरीबी उन्मूलन को चीन की मदद के बिना हासिल नहीं किया जा सकता है उसी तरह भारत के बिना SDG के लक्ष्यों को भी पूरा नहीं किया जा सकता है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -