चल बेटा सेल्फी ले ले रे…

स्मार्टफोन के बिना इंसान की लाइफ कैसी होती यह सवाल अगर आप किसी लड़के या लड़की से पूछेंगे तो वो आपको खा जाने वाली नजरों से देखेंगे यह बात तो हम दावे से कह सकते हैं.और जनाब वो ऐसा क्यों ना करें क्योंकि स्मार्टफोन तो आजकल सभी की लाइफलाइन बना हुआ है. स्मार्टफोन के बिना सेल्फी जैसा मजा कहाँ से आएगा। सेल्फी के क्रेज के बारे में शायद किसी को बताने की जरुरत नहीं है लेकिन सेल्फी के शौकीनों के लिए एक खुशखबरी जरूर है.

अपने स्मार्टफोन से सेल्फी लेना और इन तस्वीरों को दोस्तों के साथ साझा करना आपको एक खुशमिजाज व्यक्ति बना सकता है। एक अध्ययन में इस बात का पता चला है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया कि हर रोज कुछ खास तरह की सेल्फी लेना और साझा करना लोगों पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। अध्ययन यह दिखाता है कि स्मार्टफोन से सेल्फी लेने और साझा करने से लोगों में सकारात्मक विचारों की वृद्धि होती है। सेल्फी के प्रभाव को जानने के लिए 41 कॉलेज छात्रों को शामिल कर चार सप्ताह तक अध्ययन किया। अध्ययन में हिस्सा लेने वाली 28 लड़कियों और 13 लड़कों को अपनी दिनर्चया के कायरे को जारी रखने का निर्देश दिया गया था। इन

स्मार्टफोन के बिना इंसान की लाइफ कैसी होती यह सवाल अगर आप किसी लड़के या लड़की से पूछेंगे तो वो आपको खा जाने वाली नजरों से देखेंगे यह बात तो हम दावे से कह सकते हैं.और जनाब वो ऐसा क्यों ना करें क्योंकि स्मार्टफोन तो आजकल सभी की लाइफलाइन बना हुआ है.  स्मार्टफोन के बिना सेल्फी जैसा मजा कहाँ से आएगा। सेल्फी के क्रेज के बारे में शायद किसी को बताने की जरुरत नहीं है लेकिन सेल्फी के शौकीनों के लिए एक खुशखबरी जरूर है.

अपने स्मार्टफोन से सेल्फी लेना और इन तस्वीरों को दोस्तों के साथ साझा करना आपको एक खुशमिजाज व्यक्ति बना सकता है। एक अध्ययन में इस बात का पता चला है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पाया कि हर रोज कुछ खास तरह की सेल्फी लेना और साझा करना लोगों पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। अध्ययन यह दिखाता है कि स्मार्टफोन से सेल्फी लेने और साझा करने से लोगों में सकारात्मक विचारों की वृद्धि होती है। सेल्फी के प्रभाव को जानने के लिए 41 कॉलेज छात्रों को शामिल कर चार सप्ताह तक अध्ययन किया। अध्ययन में हिस्सा लेने वाली 28 लड़कियों और 13 लड़कों को अपनी दिनर्चया के कार्यों को जारी रखने का निर्देश दिया गया था। इन कार्यों में क्लास जाना, कॉलेज का काम करना और दोस्तों से मिलना शामिल था।

नहीं सोयेंगे तो लोगों को पहचान भी नहीं पाएंगे

क्या आपका बच्चा भी ऐसा करता है

पथरी की समस्या में फायदेमंद है करेला

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -