Share:
कई प्रकार के औषधीय गुणों से भरा है आपके किचन में रखा 'जायफल'
कई प्रकार के औषधीय गुणों से भरा है आपके किचन में रखा 'जायफल'

भारतीय आयुर्वेद विद्या में जायफल का बहुत अधिक महत्व है। जायफल आपकी पेट संबंधी समस्याओं को दूर करता है। जायफल में माइरिसटिसीन, एलीमीसीन, सैफरोन या यूगेनॉल नाम का औषधीय गुण होता है। जो हमें कई तरह से फायदा पहुंचाते हैं। हालांकि एक बात जरूर ध्‍यान रखें कि जायफल का सेवन अधिक मात्रा में करना आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह भी है। 

क्या आप जानते हैं महिलाओं को इतनी ठंड क्यों लगती है?

यह औषधीय गुण होते है 

जानकारी के लिए बता दें किसी भी प्रकार की बीमारी में इसकी कितनी मात्रा और कैसे लें जो रहेगी फायदेमंद यह हम आपको बतायेंगे साथ ही आपको बता दें की जायफल का उपयोग मसाले के लिए भी किया जाता है. जायफल में कई प्रकार के औषधीय गुण जैसे माइरिसटिसीन, एलीमीसीन, सैफरोन या यूगेनॉल नाम का औषधीय गुण होता है। 

स्ट्रेस को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका, खाएं ये चीज़ें

ऐसे करें इसका सेवन 

तो हम जायफल के जिन उपयोगों की बात कर रहे है उनमें मुख्यतः जायफल लेप पैरों की दरारें हटाने के लिए है फायदेमंद। वही सिरदर्द को दूर करने में है कारगर। साथ ही नींद न आने की समस्या को करता है दूर। यह सूजन और दर्द कम करने में है सहायक। मुंहासे और झाइयां की प्रॉब्लम खत्म करने के लिए जायफल को दूध में घिस के लगाएं। जायफल का लेप नाभि पर लगाएं। जायफल का चूर्ण दूध या पानी के साथ लेना उचित होगा।

मुंहासे दूर करता है पालक, जुखाम में भी है कारगर जानिए अन्य फायदे

क्या आप जानते हैं क्या है फिटकरी, और इसके फायदे

इसलिए जरुरी है अँधेरे में सोना, कई बिमारियों का खतरा होता है कम

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -